एजुकेशन

इंटर की परीक्षा में शामिल नहीं होंगे Bihar के 3 लाख छात्र, जानिए क्या है मामला

students-1
Share Post

PATNA : बिहार (Bihar) इंटर वार्षिक परीक्षा 2022 में स्कूल और कॉलेजों की गलती की वजह से कई बच्चे फाइनल परीक्षा नहीं दे पाएंगे. राज्य भर के 3244 स्कूल-कॉलेजों ने इंटर परीक्षा का फॉर्म तो भर दिया गया है, लेकिन अभी तक रजिस्ट्रेशन और परीक्षा शुल्क जमा नहीं किया है. अगर इन बच्चों का शुल्क जमा नहीं होता है तो बिहार बोर्ड इन बच्चों का प्रवेश पत्र जारी नहीं करेगी.

बता दें कि इंटर कि परीक्षा अगले साल 1 फरवरी से 14 फरवरी तक होगी. इससे पहले 10 से 20 जनवरी तक इंटर की प्रायोगिक परीक्षा होगी. बोर्ड की मानें तो प्रायोगिक परीक्षा के पहले प्रवेश पत्र जारी कर दिया जायेगा. मिली जानकारी के अनुसार, जनवरी के पहले सप्ताह में प्रवेश पत्र जारी होगा. लेकिन बोर्ड की मानें तो जिन छात्रों ने अभी तक शुल्क जमा नहीं किया है, उनका प्रवेश पत्र जारी नहीं किया जायेगा.

उन सभी का शुल्क मिलाकर एक अरब दस करोड़ 56 लाख 2820 रुपये हो रहा है. बोर्ड ने स्पष्ट कहा है कि जब तक आवेदन शुल्क जमा नहीं होगा, प्रवेश पत्र जारी नहीं किया जायेगा. बोर्ड के मुताबिक, परीक्षा शुल्क से अधिक रजिस्ट्रेशन शुल्क बकाया है. इसमें सबसे ज्यादा पटना जिले से 209 स्कूल-कॉलेज इसमें शामिल है. जिले की बात करें तो 30 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल है.

जिला और स्कूलों की संख्या
अररिया-56, अरवल-49, औरंगाबाद-104, बांका-82, बेगूसराय-86, भागलपुर-87, भोजपुर-121, बक्सर-74, दरभंगा-122, पूर्वी चंपारण-95, गया-158, गोपालगंज-88, जमुई-104, जहानाबाद-57, कैमूर-52, कटिहार-35, खगड़िया-61, किशनगंज-20, लखीसराय-58, मधेपुरा-95, मधुबनी-108, मुंगेर-52, मुजफ्फरपुर-129, नालंदा-119, नवादा-86, पटना-209, पूर्णिया-54, रोहतास-120, सहरसा-41, समस्तीपुर-105, सारण-162, शेखपुरा-28, शिवहर-10, सीतामढ़ी-61, सीवान-106, सुपौल-51, वैशाली-153, पश्चिम चंपारण-73

Latest News

To Top