एजुकेशन फुल वॉल्यूम कॉर्नर बिहारनामा योजना-परियोजना रोजगार

Bihar की बेटियों को इंजीनियरिंग और मेडिकल आरक्षण, पढ़ेगी बेटियां तभी तो बढ़ेगी बेटियां

Nitish-Kumar
Spread It

बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने जब से बिहार की कमान संभाली है तब से लेकर आज तक बिहार की बेटियों के अच्छे भविष्य के लिए इनकी सरकार हर बार नई योजना लेकर सामने आती है। इस बार नीतीश सरकार ने छात्राओं को एक बड़ा तोहफा दिया है। बिहार के मुख्यमंत्री ने बुधवार यानी 2 जून को की गई बैठक में राज्य की बेटियों को बड़ा तोहफा देते हुए राज्य के सभी मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में आरक्षण देने की घोषणा की है

मुख्यमंत्री ने इस बैठक में राज्य के इंजीनियरिंग (Engineering) एवं मेडिकल कॉलेजों (Medical College) में नामांकन में न्यूनतम एक तिहाई सीट छात्राओं के लिए आरक्षित करने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री के इस फैसले से राज्य मेंं इन क्षेत्रों में छात्राओं की संख्या और बढ़ेगी। मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए निर्देश के बाद अब राज्य के सभी इंजीनियरिंग व मेडिकल कॉलेजों में छात्राओं को 33% आरक्षण मिल पाएगा।

2 जून को हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नीतीश कुमार ने अभियंत्रण विश्वविद्यालय तथा चिकित्सा विश्वविद्यालय स्थापित करने के संबंध में प्रस्तावित विधेयक का प्रस्तुतीकरण दिया गया। साथ ही विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह ने तथा स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित प्रत्यय ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से अपनी अपनी प्रस्तुति के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। सभी की प्रस्तुति के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि अभियंत्रण विश्वविद्यालय (Engineering University) एवं चिकित्सा विश्वविद्यालय (Medical University) स्थापित होने से इंजीनियरिंग कॉलेजों एवं मेडिकल कॉलेजों का बेहतर ढंग से संचालित किया जा सकेगा

नीतीश सरकार द्वारा लिए गए इस फैसले का उद्देश्य है कि बिहार के बच्चे-बच्चियां जो बड़ी संख्या से पढ़ाई के लिए पलायन करके दूसरे राज्य जाते हैं वह बच्चे अपने राज्य में रहकर मेडिकल व इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर सकें। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार(Deepak Kumar) चंचल कुमार (Chanchal Kumar) के साथ-साथ उपमुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद (Tar Kishore Prasad) और रेनू देवी (Renu Devi) तथा शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी (Vijay Kumar Chaudhary) सहित कई मंत्री और अधिकारी जुड़े थे