एजुकेशन

Bihar : नियोजित शिक्षकों को करना होगा इंतजार, तबादले पर शिक्षा मंत्री ने कह दी बड़ी बात

Nitish-teacher
Share Post

PATNA : बिहार (Bihar) में ट्रांसफर के लिए काफी लंबे समय से इंतज़ार कर रहे शिक्षकों का इंतजार अभी और बढ़ गया है. सरकार की तरफ से शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने यह साफ़ कर दिया है कि प्राइमरी और हाईस्कूलों में छठे चरण की शिक्षक बहाली प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही शिक्षकों के तबादला के लिए आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू होगी.

आपको बता दें कि शिक्षा विभाग ने 2021 जून में शिक्षकों का तबादला का लक्ष्य रखा था. शिक्षकों के तबादला संबंधी नीति शिक्षा विभाग ने 2020 में बना ली है. शिक्षकों के तबादला के लिए सॉफ्टवेयर तैयार हो गया है. सॉफ्टवेयर का फाइनल ट्रायल होना बाकी है. पारदर्शी तरीके से तबादले के लिए सॉफ्टवेयर के माध्यम से ही ऑनलाइन आवेदन लिया जाएगा. सभी डीईओ जिलावार, नियोजन इकाईवार, विषयवार, कोटिवार रिक्त पदों की सूचना वेब पोर्टल पर अपलोड करेंगे. जिस कोटि के शिक्षक हैं, उसी कोटि के लिए तबादला के लिए आवेदन कर सकेंगे.

वहीं, निगरानी जांच में फंसे वैसे शिक्षक भी तबादला के लिए आवेदन नहीं दे सकेंगे, जिनके सर्टिफिकेट की जांच नहीं हो सकी है. शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि विभाग की प्राथमिकता अभी शिक्षकों की बहाली जल्द से जल्द पूरा कर नियुक्ति पत्र देना है. नियोजन प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही शिक्षकों का तबादला होगा. सॉफ्टवेयर के माध्यम से तबादला प्रक्रिया पूरी कराई जाएगी.

इधर प्राथमिक शिक्षक नियोजन के तीसरे चक्र की काउंसिलिंग आज से शुरू हो रही है. 1368 नियोजन इकाइयों में 12,495 पदों के लिए काउंसलिंग में बड़ी संख्या में अभ्यर्थी शामिल होंगे. 28 जनवरी को काउंसलिंग खत्म होने के बाद अगले महीने 25 फरवरी को एक साथ सब को नियुक्ति पत्र देने की घोषणा शिक्षा विभाग की तरफ से की जा चुकी है.

तय शेड्यूल के अनुसार, 17,18 और 19 जनवरी को नगर निकायों के लिए काउंसिलिंग कराई जानी है. यह सभी काउंसिलिंग जिला मुख्यालयों पर होगी 22, 24, 25 जनवरी को प्रखंड स्तर की काउंसिलिंग जिला मुख्यालय पर कराई जाएगी.

नियोजन से संबंधित आवेदक, आमजन और संबंधित नियोजन इकाई की ओर से जानकारी प्राप्त और पूछताछ के लिए डीईओ ऑफिस में कंट्रोल रूम का गठन किया गया है. इसमें डीपीओ माध्यमिक शिक्षा पुष्पा कुमारी, लिपिक अनिल कुमार उपाध्याय और यायावर स्मिथ मौजूद रहेंगे. डीईओ प्रेमचंद ने कोईलवर, शाहपुर, तरारी बड़हरा, संदेश और पीरो प्रखंड के बीईओ को निर्देश दिया है कि तीसरे चरण की काउंसलिंग के लिए निर्धारित स्थल पर हेल्पडेस्क का गठन किया जाए.

उन्होंने कहा है कि 17 जनवरी से 28 जनवरी तक तीसरे चक्र की काउंसलिंग के लिए तिथि निर्धारित है. इसमें उपस्थित होने वाले अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए स्थल पर हेल्प डेस्क का गठन करना है ताकि काउंसलिंग में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को असुविधा नहीं हो. साथ ही यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है. कि जो कर्मी हेल्प डेस्क पर प्रतिनियुक्त रहेंगे, वह कर्मी काउंसलिंग कक्ष में प्रवेश नहीं करेंगे.

Latest News

To Top