एजुकेशन

Bihar : इंटर और मैट्रिक परीक्षा में नकल पर नकेल, चोरी हुई तो मजिस्ट्रेट और केंद्राधीक्षक पर होगी कार्रवाई

students-1
Share Post

PATNA : बिहार (Bihar) में इंटर और मैट्रिक की परीक्षा (Exams) में अगर किसी केंद्र पर चोरी हुई तो इसके लिए केंद्राधीक्षक और दंडाधिकारी जिम्मेवार होंगे. बिहार बोर्ड द्वारा जारी मार्गदर्शिका के मुताबिक जिस सेंटर पर चोरी होगी, वहां के केंद्राधीक्षक और दंडाधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी. बिहार बोर्ड ने इंटर और मैट्रिक परीक्षा में चोरी रोकने के लिए तमाम सावधानियों को बरतने को कहा गया है.

इंटर और मैट्रिक एग्जाम में कदाचार मुक्त परीक्षा के लिए सभी केंद्रों पर धारा 144 लगायी जायेगी. मजिस्ट्रेट, पुलिस बल और परीक्षा केंद्र के भीतर की व्यवस्था के लिए केंद्राधीक्षक और उनके साथ शामिल कर्मी की सामूहिक जिम्मेवारी होगी. चोरी होने की स्थिति में नकल करने वाले परीक्षार्थियों और इसमें सहयोग करने वाले अभिभावकों के साथ-साथ परीक्षा व्यवस्था में जुड़े सभी कर्मियों पर भी कार्रवाई होगी.

सामूहिक कदाचार होने पर नियमानुसार उस केंद्र की परीक्षा रद्द कर दी जायेगी. परीक्षा के दौरान किसी भी परीक्षार्थी को केंद्र छोड़ने की अनुमति नहीं दी जायेगी. परीक्षार्थी को परीक्षा केंद्र के अंदर ही शौचालय जाने की अनुमति होगी. इंटर परीक्षा में वीक्षण कार्य करने वाले शिक्षकों की नियुक्ति के लिए लॉटरी निकाली जायेगी.

इसके लिए हर जिला शिक्षा कार्यालय के पास शिक्षकों की सूची बिहार बोर्ड द्वारा भेजी गयी है. संबंधित जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा 28 जनवरी तक वीक्षकों की नियुक्ति कर दी जानी है. पटना डीईओ कार्यालय की मानें तो 25 जनवरी को रैंडमली वीक्षकों की नियुक्ति की जायेगी. वीक्षकों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरह का नियुक्ति पत्र दिया जायेगा.

Latest News

To Top