एजुकेशन

Bihar : 32,714 शिक्षक के पदों पर बहाली की प्रक्रिया जल्द होगी शुरू, हाई कोर्ट में दायर की गयी याचिका

Teachers-bahali-1
Share Post

PATNA : बिहार (Bihar) सरकार ने राज्य में छठे चरण के तहत 32,714 पदों पर माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षकों की नियोजन प्रक्रिया के लिए प्रयास तेज कर दी है. इसके लिए राज्य सरकार ने पटना हाई कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दायर की है.

शिक्षा एवं संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बताया कि इस याचिका के माध्यम से हाई कोर्ट से अनुरोध किया गया है कि पंचायत स्तर पर जो नए माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालय स्थापित किए गए हैं, उनमें शिक्षकों की कमी है. अगले माह से नए शैक्षणिक सत्र की पढ़ाई शुरू होगी. इसलिए शिक्षकों की कमी दूर करने और बच्चों की पढ़ाई के हित में छठे चरण की शिक्षक नियोजन प्रक्रिया पूरी करने की अनुमति दी जाए.

इसके अलवा विजय कुमार चौधरी ने बताया कि हाई कोर्ट में दायर विशेष अनुमति याचिका के माध्यम से यह अनुरोध किया गया है कि चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों की नियोजन प्रक्रिया पूरी करने के बाद 3 से 6 माह के अंदर 7वें चरण की माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षक पदों के खाली पदों पर एसटीईटी पास अभ्यर्थियों की नियोजन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी जाएगी. यदि इस दौरान किसी अभ्यर्थी की नियोजन प्रक्रिया में उम्र-सीमा की समाप्ति बाधा बनती है तो सीमा में छूट का मौका दिया जाएगा. लेकिन, एसटीईटी पास किसी भी अभ्यर्थी को शिक्षक नियोजन प्रक्रिया में शामिल होने से वंचित नहीं होने दिया जाएगा.

बता दें कि इस साल राज्य में माध्यमिक शिक्षकों के 40,665 और उच्च माध्यमिक के 47,896 पदों पर नियुक्ति होनी है. इसलिए कयास लगाया जा रहा है कि यदि हाई कोर्ट ने सरकार को छठे चरण की नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने की अनुमति नहीं देकर एसटीईटी पास अभ्यर्थियों को इसी चरण में शामिल करने का आदेश दिया गया तो सरकार को विवश होकर छठे चरण की माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षकों की नियोजन प्रक्रिया को रद्द करनी पड़ेगी और फिर विज्ञापन निकाल कर सभी अभ्यर्थियों से नियोजन इकाईयों में आवेदन लेना पड़ेगा.

बताया जा रहा है कि  चयनित शिक्षक अभ्यर्थियों की अंतिम मेधा सूची तैयार है. इन अभ्यर्थियों को 17-18 फरवरी को नियुक्ति पत्र दिया जाना था. लेकिन हाई कोर्ट ने एक लोकहित याचिका के आधार पर नियोजन प्रक्रिया पूरी करने पर रोक लगा दी थी.

Latest News

To Top