एजुकेशन

बच्चों के टीकाकरण के लिए नहीं होगी Aadhaar Card की जरुरत, Patna के स्कूलों में 3 जनवरी से लगेगी Vaccine

Kids-Vaccination
Share Post

DESK : कोरोना की तीसरी लहर के पहले छात्रों को वैक्सीन (Vaccine) की सुरक्षा देने की तैयारी जोरों पर है. पटना में बच्चों को स्कूलों में ही वैक्सीन दी जाएगी. इसके लिए जल्द ही सिविल सर्जन जूम मीटिंग पर प्रधानाचार्यों के साथ बैठक करेगी. साथ ही जिन बच्चों के पास आधार कार्ड नंबर नहीं होगा, उनको स्कूल की आइडी नंबर पर टीकाकारण किया जाएगा. ये जानकारी सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह ने दी.

सिविल सर्जन ने बताया कि कुछ स्कूल- कालेजों में बड़ों का भी टीकाकरण किया जा रहा है. ऐसे केंद्रों पर बच्चों के लिए अलग काउंटर बनाया जाएगा, जिसकी दूरी बड़ों के काउंटर से दूर राखी जाएगी. वहीं प्रखंडों में जहां कम या छोटे स्कूल होंगे. वहां बड़ों का टीकाकरण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ही किया जाएगा.

बड़ों की तरह किशोरों के टीकाकरण केंद्रों की संख्या भी धीरे धीरे बढ़ाई जाएगी. इसका कारण डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों की कमी को बताया जा रहा है. इसके लिए घर घर जाकर टीकाकरण कार्य को रोका जा सकता है. इसके बदले बिच बिच में विशेष शिविर लगाकर टीकाकरण किया जाएगा. इसके अलावा किशोरों के टीकाकरण केंद्र पर डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति के लिए भी रोस्टर तैयार किया जा रहा है. डॉक्टरों की निगरानी में ही बच्चों को कोरोना वैक्सीन दी जाएगी.

माना जा रहा है कि जिले में 15 से अधिक और 18 वर्ष के किशोरों की संख्या चार लाख से अधिक बताई जा रही है. सरकार ने तीन जनवरी से कोरोना टीका लेने वाले 15 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए विस्तृत दिशा निर्देश बुधवार को जारी कर दीया.स्वास्थ और शिक्षा विभाग के अपर मुख्या सचिव ने संयुक्त रूप से सभी जिलों के डीएम, सिविल सर्जन और जिला शिक्षा अधिकारीयों को पत्र लिखा है. जिसमे उन्होंने कहा है कि उपस्थिति सुनिश्चित कराएं. इसके साथ प्रत्येक स्कूल से एक शिक्षक को नोडल अधिकारी नामित किया जाएगा.

Latest News

To Top