एजुकेशन

औरंगाबाद की रामायणी ने मैट्रिक में किया टॉप, Ravish Kumar जैसा पत्रकार बनने का है सपना

Topper-ravish-tfv-2
Share Post

AURANGABAD : बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने बिहार बोर्ड 10वीं का रिजल्ट (Matric Result) आज जारी कर दिया है. इस बार मैट्रिक की परीक्षा में कुल 79.88% छात्र-छात्राओं ने बाजी मारी. औरंगाबाद की बेटी रामायणी रॉय ने टॉप किया. रामायणी को मैट्रिक परीक्षा में 487 मिले हैं. वे पटेल हाईस्कूल औरंगाबाद की छात्रा हैं. रामायणी ने कहा कि वह भविष्य में पत्रकार बनना चाहती हैं. उन्होंने रवीश कुमार (Ravish Kumar) को अपना इंस्पिरेशन बताया.

बिहार बोर्ड की मैट्रिक टॉपर रामायणी राय ने कहा कि ‘मैं बहुत खुश हूं. मेरे माता-पिता भी बहुत खुश हैं. मैंने मैट्रिक परीक्षा के लिए काफी मेहनत की थी. आज रिजल्ट देखकर मुझे बहुत खुशी हो रही है.” रामायणी ने आगे कहा कि “परीक्षार्थियों को यही सोचकर एग्जाम देना चाहिए कि मैं टॉप करूँगा. अगर ऐसा होगा तो उनकी मेहनत दिखेगी और वो सच में सफलता हासिल करेंगे.”

रामायणी ने आगे मीडिया को बताया कि “मैट्रिक की परीक्षा में मुझे 487 अंक मिले हैं लेकिन मुझे उम्मीद थी कि 490 नंबर मिल सकते हैं. इतना आना चाहिए था. लेकिन मैं खुश हूं. मैं बड़ा होकर जर्नलिस्ट बनना चाहती हूँ. एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार मुझे बहुत अच्छे लगते हैं. उनका प्राइम टाइम शो मुझे बहुत अच्छा लगता है. क्योंकि वो जमीन से जुड़े मुद्दे उठाते हैं. वह गरीबों की आवाज बनते हैं. रवीश कुमार मेरे प्रेरणादायक हैं. इसलिए मैं भी एक पत्रकार बनकर इस क्षेत्र में अच्छा काम करना चाहती हूं.”

आपको बता दें कि रवीश कुमार भारत के लोकप्रिय TV एंकर, लेखक और पत्रकार हैं. वे बिहार के मोतिहारी के जितवारपुर गांव के रहने वाले हैं. देश के बहुत से युवा जो अपना भविष्य पत्रकारिता के क्षेत्र में बनाना चाहते हैं, वे रवीश कुमार को अपना इंस्पिरेशन समझते हैं. इस साल की बिहार मैट्रिक टॉपर रामायणी रॉय के भी फेवरेट रवीश कुमार ही हैं. उन्हीं को देखकर और उनके काम से प्रेरित होकर रामायणी भी पत्रकार बनना चाहती हैं.

गौरतलब हो कि इस बार मैट्रिक परीक्षा में 16 लाख 11 हजार 99 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. जिसमें से 8 लाख 20 हजार 179 छात्र और 7 लाख 90 हजार 920 छात्राएं शामिल थीं. इस बार 79.88% बच्चे पास हुए हैं. इनमें 6 लाख 78 हजार 110 छात्र और 6 लाख 08 हजार 861 छात्राएं शामिल हैं. टॉप 10 में 47 छात्रों ने जगह बनाई है. जबकि टॉप 5 में आठ छात्र हैं.

बता दें कि इस बार जो टॉपर्स की लिस्ट जारी की गई है उसमें आठ बच्चों के नाम शामिल हैं. टॉप 5 में 4 लड़के और 4 लड़कियां शामिल हैं. औरंगाबाद की रामायणी राय ने बिहार टॉप किया है. रामायणी को मैट्रिक परीक्षा में 487 मिले हैं. वे पटेल हाईस्कूल औरंगाबाद की छात्रा हैं. वहीं, सेकंड टॉपर नवादा के रजौली की सानिया कुमारी हैं. उन्हें 486 अंक मिले हैं. वे प्रोजेक्ट गर्ल्स हाईस स्कूल रजौली की छात्रा हैं. मैट्रिक परीक्षा में मधुबनी के विवेक ठाकुर थर्ड टॉपर रहे. न्यू अपग्रेड हाई स्कूल मधुबनी के छात्र विवेक को परीक्षा में 485 मिले हैं.

बिहार मैट्रिक परीक्षा में चौथे स्थान पर पटना के खुसरुपुर महादेव हाईस्कूल की छात्रा निर्जला कुमारी रहीं. उन्होंने 484 अंक लाकर चौथे स्थान पर जगह बनाई. बिहार मैट्रिक परीक्षा में पांचवें स्थान पर तीन छात्र रहे. 483 अंकों के साथ भोजपुर के अनुराग कुमार, जमुई के सुशील कुमार और खेड़ाई के निखिल कुमार संयुक्त रुप से पांचवें स्थान पर रहे.

बता दें कि इस बार मार्च महीने में ही मैट्रिक का रिजल्ट आ गया है. 31 मार्च को दोपहर में 3 बजे बिहार बोर्ड के 10वीं का रिजल्ट राज्य के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी की मौजूदगी में जारी किया गया है. इस मौके पर शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार और बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनन्द किशोर उपस्थित थे.

Latest News

To Top