खेल

टीम इंडिया पर अकेले भारी पड़े David Warner, इस मामले में सबको पीछे किया

david-warner1
Share Post

DESK : 2 अप्रैल 2011 का दिन तो आपको याद होगा. यह दिन भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के लिए जश्न्न का दिन था. भारत के पूर्व और सबसे सफल कप्तान कहे जाने वाले महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने इतिहास रचते हुए 28 साल बाद वनडे विश्व कप पर कब्जा जमाया था. मुंबई के वानखेडे स्टेडियम में खेले गए फाइनल में भारतीय टीम ने श्रीलंका को छह विकेट से हराकर दूसरी बार विश्व कप खिताब अपने नाम किया.

मैच के 49वें ओवर में धोनी ने छक्का लगाकर मैच को समाप्त किया था जो इतिहास बन गया. जिसके बाद इसी टीम के सदस्यों ने उस बल्ले पर अपना हस्ताक्षर किया था. जिनको दुबई में नीलामी की गई. इसमें बल्ले और दूसरे खेल सामानों की नीलामी की गई है. धोनी ने जिस बल्ले से चक्का लगाकर वर्ल्ड कप में जीत दिलाई थी, वो बल्ला 25,000 डॉलर यानी लगभग 19 लाख रुपये में बिका. शुक्रवार को हुई नीलामी में कुल 3,35,950 डॉलर लगभग 2.5 करोड़ रुपए की बोली लगाई गई.

इसके साथ ही तेंदुलकर के 200वें टेस्ट मैच के संग्रह का डिजीटल अधिकार मुंबई के रहने वाले अमल खान ने 40,000 डॉलर लगभग 30,01,410 रुपये में हासिल किया. भारत के पहले टेस्ट कप्तान सीके नायडू के संग्रह भी बिके, इसमें उनकी मूल बैंक पासबुक और पासपोर्ट शामिल थे. इसके डिजीटल अधिकार क्रमश: 7500 डॉलर यानी 5,62,725 रुपये और 980 डॉलर करीब 73,529 रुपये में बीके.

1952 में भारत के पहले पाकिस्तान दौरे के ऑटोग्राफ को 15,000 डॉलर तक़रीबन 11,25,528 रुपये में नीलाम हुई. क्रिकफ्लिक्स द्वारा आयोजित इस नीलामी में डेविड वॉर्नर (David Warner) की 2016 की आईपीएल विजेता हैदराबाद की जर्सी के लिए सबसे अधिक बोली लगी. यह जर्सी 30,000 डॉलर करीब 22.6 लाख रुपये में बेची गई. जो सबसे महंगी रही. वहीं महिला तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी की विश्व कप 2017 के सेमीफाइनल में पहनी गई जर्सी की कीमत 10,000 डॉलर लगभग 7,50,300 रुपये कीमत लगाई गई है.

Latest News

To Top