खेल

क्या 26 साल बाद Team India खत्म कर पाएगी जीत का सूखा, देखें कैसा है साउथ अफ्रीका में भारतीय दिग्गजों का रिकॉर्ड

BCCI-jobs
Share Post

Desk: भारतीय खिलाड़ी (Team India) साउथ अफ्रीका रवाना हो चुके हैं. इस देश में टीम इंडिया अपनी पहली सीरीज की जीत का इंतज़ार कर रही है. आपको बता दें कि अभी तक टीम इंडिया 20 मैचों में सिर्फ 3 मैच ही अपने नाम कर पाई है और 10 मैच में हार का सामना किया है. 2006 में भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका में अपनी पहली जीत दर्ज की थी, जिसमे राहुल द्रविड़ ने कप्तानी संभाली थी. 2010 और 2018 में टेस्ट मैचों के खिलाफ जीत तो मिली पर टीम इंडिया सीरीज से काफी दूर थी.

राहुल द्रविड़ टीम इंडिया के कोच है और देखा ये है की क्या राहुल द्रविड़ की निगरानी में टीम इंडिया सीरीज जीत पाती है. बता दें की राहुल द्रविड़ की भी साउथ अफ्रीका के पिच पर बल्लेबाज़ी औसत 40 से काम की है. द्रविड़ ने सिर्फ 22 पारियों में केवल 29.71 औसत से ही रन बनाये हैं. और उनके नाम साउथ अफ्रीका के पिच पर सिर्फ एक शतक ही बन पाया था. इससे ये साफ झलकता है की साउथ अफ्रीका के पिचों पर विकेटों पर रन बनाना काफी मुश्किल है.

भारतीय टीम के पास अभी अच्छे बल्लेबाज़ों का लय में न होना काफी चिंता का विषय बना हुआ है. टीम इंडिया के पास गेंदबाज़ों की कमी नहीं है पर उस पिच पर अच्छे बल्लेबाजों का होना भी ज़रूरी है. जैसे की अभी विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा का प्रदर्शन पिछले मैचों में काफी ख़राब रहने के कारण टीम मेंबर्स को काफी परेशान कर रहा है कि क्या तीनों इस मैच में कमाल दिखा पाएंगे. रहाणे और पुजारा की जगह को लेकर भी सीनियर्स ने काफी सवाल उठाए थे. वीवीएस लक्ष्मण ने मुंबई टेस्ट के दौरान कहा था कि टीम इंडिया को साउथ अफ्रीका में बेहतर प्रदर्शन के लिए कुछ बड़े फैसले करने होंगे.

भारतीय टीम के तीनों सीनियर बल्लेबाज पहले भी साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपना प्रदर्शन दिखा चुके हैं, जिसमे इनका प्रदर्शन अच्छा रहा था. बाकि टीम मेंबर्स की माने तो उन्हें इन्ही तीनों से उम्मीद है अब देखना ये है कि क्या तीनों अपने आपको साबित कर पाएंगे. वैसे आपको बता दे कि विराट कोहली के हालिया फॉर्म और हालिया विवाद से टीम इंडिया के सामने एक बड़ी चुनौती नज़र आ रही है. बताते चलें की पिछले मैचों में विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा का कैसा कारनामा देखने को मिल चूका है.

विराट कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली टीम इंडिया के साथ 2013 और 2018 में साउथ अफ्रीका दौरे पर गए थे, जिसमे उनका रिकॉर्ड काफी शानदार रहा था. 5 टेस्ट की 10 पारियों में विराट ने 55.80 की औसत से 558 रन बनाए हैं. विराट के नाम 2 शतक भी हैं. अपनी 71वीं सेंचुरी की खोज में भटक रहे विराट से उम्मीद रहेगी कि वो इस दौरे की शुरुआत शतक से करें. हालांकि विराट को लेकर चल रही ख़बरों के कारण इसका पूरा असर मैचे में भी देखने को मिल सकता है.

अजिंक्य रहाणे

बीसीसीआई ने अजिंक्य रहाणे ने ख़राब प्रदर्शन के कारण उनकी उप कप्तानी उनसे वापस ले ली. रहाणे ने 2018 में भारतीय टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका का दौरा किया था. उस समय उनके शानदार बल्लेबाजी की वजह से टीम इंडिया को तीसरे टेस्ट मैच में जीत मिली थी. रहाणे ने साउथ अफ्रीका में 3 टेस्ट मैचेस खेले थे. जिसमे 6 परियों में उनके नाम 53.20 की औसत से 266 रन हैं. अगर अफ्रीका में वो अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं तब उनके लिए काफी सकता है.

चेतेश्वर पुजारा

चेतेश्वर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 7 टेस्ट मैच खेले हैं. उन्होंने इन 7 टेस्ट में 13 पारियों के 31.61 की औसत से 411 रन बनाये हैं. जिसमे 1 सेंचुरी और 2 हाफसेंचुरी शामिल है. तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले पुजारा के लिए ये दौरा काफी चुनौती भरा है. इन्होने 2010, 2013 और 2018 में साउथ अफ्रीका का दौरा किया था.

अब देखना ये है कि क्या सीनियर्स का भरोसा कायम कर पाएंगे ये तीनो बड़े खिलाड़ी.

Latest News

To Top