समसामयिकी संग्रह

जोहान्सबर्ग में रुका भारत का विजय रथ, South Africa में पहली टेस्ट सीरीज जीतने की राह हुई मुश्किल

Ind-vs-SA-match
Share Post

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच चल रहा दूसरा टेस्ट साउथ अफ्रीका (South Africa) ने जीत लिया है. इसी के साथ सीरीज 1-1 से बराबर हो गयी है. इस करारी हार के साथ ही भारत का जोहान्सबर्ग में अजेय रहने का सिलसिला भी टूट चुका है. जोहान्सबर्ग के इस मैदान पर भारत की 29 सालों में ये पहली हार है. इस के साथ ही इस 3 टेस्ट मैचों की श्रृंखला ने रोमांचक मोड़ ले लिया है.


जोहान्सबर्ग के वांडरर्स स्टेडियम में टीम इंडिया ने पहला टेस्ट साल 1992 में खेला था और वह मैच ड्रॉ रहा था. इस मुकाबले से पहले भारत ने यहां खेले 5 टेस्ट मैचों में से दो में जीत हासिल की थी, जबकि 3 मुकाबले ड्रॉ रहे थे. पिछले 29 साल में साउथ अफ्रीका की टीम कभी भी भारतीय टीम को मात नहीं दे पाई है, लेकिन आज ये सिलसिला भी टूट गया.

साथ ही अनफिट विराट कोहली की गैरमौजूदगी में पहली बार टेस्ट फॉर्मेट में भारत की कमान संभालने वाले केएल राहुल की बतौर कप्तान ये पहली हार रही.


भारतीय टीम के गेंदबाजों का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा. मैच में अफ्रीका के सामने 240 रनों का टारगेट था और भारतीय फैन्स ने टीम इंडिया के बॉलर्स से दमदार प्रदर्शन की उम्मीद लगाई हुई थी. लेकिन अफ्रीकी टीम ने भारत के जीत के सपने को पूरा नहीं होने दिया. पहले विकेट के लिए एल्गर और एडेन मार्करम ने 47 रन जोड़े. इस साझेदारी को शार्दूल ठाकुर ने मार्करम (31 रन) को आउट कर तोड़ा. कीगन पीटरसन 28 रन बनाकर आर अश्विन की गेंद पर आउट हुए. तब तक साउथ अफ्रीका स्कोर बोर्ड पर 93 रन लगा चुकी थी.


तीसरे विकेट के लिए भारतीय टीम का इंतजार लंबा रहा. 40 रनों के निजी स्कोर पर रैसी वान डेर डूसेन का विकेट मोहम्मद शमी के खाते में आया. डूसेन का कैच पहली स्लिप में चेतेश्वर पुजारा ने पकड़ा. तीसरे विकेट के लिए एल्गर और डूसेन ने 159 गेंदों पर 82 रन जोड़े. हालांकि डूसेन के विकेट तक भारत की वापसी के रास्ते बंद हो चुके थे.


जोहान्सबर्ग टेस्ट के तीसरे दिन की शुरुआत भारत के लिए बढ़िया रही थी. चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने लगभग 75 मिनट बैटिंग कर टीम इंडिया को मैच में बनाए रखा, लेकिन इसके बाद 29 रन बनाने में भारत ने चार विकेट खो दिए. इसके बाद हनुमा विहारी ने पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ मिलकर टीम इंडिया को 266 रनों तक पहुंचाया. शार्दूल ठाकुर ने 28 और रविचंद्रन अश्विन ने 16 रन बनाए.


इस हार के साथ ही टीम इंडिया की पहली बार साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज जीतने की राह मुश्किल हो गयी है. जहां तीसरे और अंतिम टेस्ट में भारतीय टीम पहली बार साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगी वहीं दूसरी ओर साउथ अफ्रीका के खिलाड़ी पूरी कोशिश करेंगे कि भारतीय टीम का ये सालों के सपना सपना ही बना रहे.

Latest News

To Top