कला-संस्कृति

Bihar में धूमधाम से नहीं मनेगी सरस्वती पूजा, डीजे और जुलूस पर भी लगी रोक

Saraswati-Puja
Share Post

PATNA : कोरोना के कारण सरस्वती पूजा में बड़े आयोजन पर प्रशासन ने रोक लगा दिया है. बैंड-बाजा, डीजे और जुलूस पर भी पाबंदी लगाई गई है. लोगों को कहा गया है कि वे अपने घर ऊपर ही पूजा करें. क्योंकि बिहार में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 6 फरवरी तक पाबंदी बढ़ाई गई है.

इसके बाद डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि सभी धार्मिक स्थल श्रद्धालुओं और आमजनों के लिए बंद रहेंगे. किसी प्रकार के आयोजन के लिए प्रशासन से अनुमति लेनी होगी. डीजे और जुलूस पर भी रोक है. ऐसे में पटना सदर एसडीओ नवीन कुमार का कहना है कि वर्तमान गाइडलाइन के हिसाब से सामूहिक और सार्वजनिक जगहों पर पूजा की अनुमति नहीं दी जाएगी. इस संबंध में आगे दिशा-निर्देश आने के बाद ही कोई निर्णय लिया जा सकता है.

पटना जिले में रात दस बजे से सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा लेकिन इसमें स्वास्थ्य से संबंधित सरकारी और प्राइवेट वाहनों की छूट रहेगी. इसके अलावा मालवाहक वाहन संचालित होते रहेंगे. जिनके पास रेलवे या हवाई जहाज का टिकट है वे रात में सफर कर सकते हैं. इसके अलावा अंतरराज्यीय मार्गों पर चलने वाले वाहनों को छूट दी गई है. सार्वजनिक परिवहन में भी 50 प्रतिशत उपयोग करने का निर्देश दिया गया है.

आपको बता दें कि वसंत पंचमी की तैयारियां पटना शहर में दिखने लगी हैं. शहर के कई इलाकों में मां सरस्वती की प्रतिमा का निर्माण तेजी से हो रहा है. हालांकि पाबंदियों के कारण बड़ी प्रतिमा की जगह चार फीट से छोटी मूर्तियां ज्यादा तैयार हो रही हैं. कलाकारों का कहना है कि घरों में श्रद्धालु छोटी मूर्तियों को बैठा सकते हैं.

मूर्तिकार का कहना है कि इस बार बाजार में पांच सौ रुपये से लेकर पांच हजार रुपये के बीच सामान्य तौर पर मूर्तियां मिल जाएंगी. कंकड़बाग केंद्रीय विद्यालय के पीछे, सालिमपुर अहरा, पार्क रोड, पोस्टल पार्क सहित शहर के कई इलाकों में मूर्ति निर्माण जारी है. मूर्ति निर्माण से जुड़े कलाकार भोला पंडित कहते हैं कि दो फीट से लेकर चार फीट के बीच मूर्तियों की ज्यादा मांग है.

Latest News

To Top