चर्चित व्यक्ति

ओलंपिक क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला नाविक बनीं नेत्रा

netra-kumanan
Spread It

भारत की महिलाओं का दबदबा सिर्फ देश में हीं नहीं विदेश में भी है। नेत्रा कुमनन (Nethra Kumanan) ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला नाविक बनीं। उन्होंने, एक संयुक्त एशियाई और अफ्रीकी ओलंपिक क्वालीफाइंग इवेंट Mussanah Open Championship में लेजर रेडियल इवेंट में पहले स्थान पर आकर टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया।

इस साल के टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करके चार नाविकों ने भारत का इतिहास रचा, जिसमें विष्णु सरवनन (Vishnu Sarwanan) , गणपति चेंगप्पा (Ganpati Chengappa) और वरुण ठक्कर (Varun Thakkar) भी शामिल हैं। कुमनन ओलंपिक में एक सेलिंग इवेंट के लिए क्वालीफाई करने वाले 10वें भारतीय होंगीं। कुमनन पहले भारतीय हैं जिन्होंने क्वालीफायर में टॉप करके सीधा कोटा हासिल किया है। इससे पहले सभी नौ पुरुष एथलीट थे, जिन्होंने क्वालीफायर के माध्यम से नहीं भरे गए कोटा स्थानों के लिए नामांकित होकर ओलंपिक में जगह बनाई थी।

कुमारन ने Laser Radial इवेंट में अपने आप में एक अनुपलब्ध बढ़त ले ली थी। Laser Radial एक सिंगलहेंडेड बोट होती है, जिसका अर्थ है कि यह केवल एक व्यक्ति द्वारा रवाना की जाती है। 23 साल की नेत्रा लेजर रेडियल क्लास स्पर्धा में अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी और हमवतन रम्या सरवनन पर 21 अंक की बढ़त बनाए थीं। उनकी 21 अंकों की बढ़त ने ओलंपिक के लिए उनकी योग्यता को लगभग सुनिश्चित कर दिया।

कुमानन, चेन्नई के SRM कॉलेज में एक इंजीनियरिंग छात्रा थी। उन्होंने Incheon और Jakarta में क्रमशः 2014 और 2018 एशियाई खेलों में देश का प्रतिनिधित्व किया हैवह सेलिंग में विश्व कप पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनीं जब उन्होंने अमेरिका के मियामी में 2020 के सेलिंग विश्व कप में कांस्य पदक जीता।

Add Comment

Click here to post a comment