योजना-परियोजना

इस राज्य के अनाथ बच्चों का नाथ बनेगी सरकार

tirath-singh-rawat
Spread It

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत (CM Tirath Singh Rawat) ने कोविड-19 महामारी के चलते अपने माता-पिता को खो चुके बच्चों के लिए शिक्षा और रोज़गार की एक योजना की घोषणा की।

जिन्होंने महामारी की वजह से अपने माता पिता दोनों को खो दिया और बेसहारा हो गए इस तरह के बच्चों को 21 साल की आयु तक ‘मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना’ के तहत प्रतिमाह 3 हजार रुपये का भत्ता दिया जाएगा।

सीएम ने अपने ट्विटर हैंडल के ज़रिये इस योजना के संबंध में नागरिकों को जानकारी दी।

महामारी में अनाथ हुए बच्चों के बेहतर भविष्य के लिहाज़ से राज्य सरकार उनकी शिक्षा का भी ध्यान रखेगी और इस योजना के तहत उनके लिए सरकारी नौकरी में पांच प्रतिशत कोटा भी रखा जाएगा।

इस योजना के तहत अनाथ बच्चों की पैतृक संपत्ति के लिए भी सरकार नियम तय करेगी। बताया गया है कि इन बच्चों के वयस्क होने तक उनकी पैतृक संपत्ति को बेचने का अधिकार किसी को नहीं होगा।

IIT Kanpur : आईआईटी कानपुर ने 2 नए कोर्स किया लांच