योजना-परियोजना फुल वॉल्यूम कॉर्नर बिहारनामा

Bihar : कोरोना काल में हुए अनाथ बच्चों के नाथ बने Nitish Kumar,मिलेगी ये सारी सुविधाएं

Nitish-Kumar
Spread It

नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की सरकार राज्य भर में लड़कियों की पढ़ाई के लिए कई सारी योजनाएं लाती रहती है। लेकिन 30 मई की बैठक में नीतीश कुमार ने एक अहम फैसला लिया है। जिसमें कोरोना काल के दौरान जिन बच्चों के माता पिता की मृत्यु कोरोना की वजह से हुई है उन बच्चों को बिहार सरकार ‘बाल सहायता योजना’ (Bal Sahayata Yojana) के अंतर्गत 18 वर्ष की आयु तक सहायता राशि प्रदान करेगी। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऐसे बच्चे जिनके माता पिता दोनों की मृत्यु हो गई है और जिनमें से कम से कम एक की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण से हुई है, उन्हें ‘बाल सहायता योजना’ (Bal Sahayata Yojana) के अंतर्गत बिहार सरकार द्वारा 18 वर्ष होने तक 1500 रुपये हर महीने देने की घोषणा की है।

इस बात की जानकारी खुद नीतीश कुमार ने ट्विटर के द्वारा ट्वीट करके दी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जिन अनाथ बच्चों के अभिभावक नहीं है उनकी देखरेख बाल गिरी में की जाएगी। और ऐसे अनाथ बच्चियों का कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में प्राथमिकता पर नामांकन कराया जाएगा।

पिछले हफ्ते बंगाल और ओडिशा में तबाही मचाने के बाद जब ‘यास’ तूफान ने बिहार में दस्तक दिया तो राज्य के कई जिलों के इलाके पानी-पानी हो गए और इस तूफान की वजह से राज्य में कई लोगों की जान भी चली गई। ऐसे में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मृतकों के प्रति गहरी शोक संवेदना प्रकट करते हुए मरने वालों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए मुआवजा देने का निर्देश दिया। और अब कोरोना से अपने माता पिता को खोने वाले बच्चों को ‘बाल सहायता योजना’ के अंतर्गत सहायता राशि प्रदान की जाएगी।