महत्वपूर्ण-दिवस-सप्ताह-वर्ष विज्ञान-अंतरिक्ष

World UFO Day : ब्रह्मांड में मानव, अकेला प्राणी नहीं हैं

UFO
Spread It

इतने बड़े ब्रह्मांड में कई रहस्य छिपे हैं।


हम जब भी आसमान के तरफ देखते हैं तो कई सारे चमकते सितारे और चाँद दिखते हैं, परन्तु ब्रह्मांड इन सारी चीज़ों के अलावा भी बहुत सी चीज़ों का भंडार है।


दुनिया भर में हर साल 2 जुलाई को World UFO Day मनाया जाता है।


UFO का मतलब Unidentified Flying Objects यानी की अज्ञात उड़ने वाली चीज़ है।
इसे उड़न तश्तरी भी कहा जाता है और ये वस्तुएं किसी न किसी तरह एलियन के जीवन रूपों से संबंधित हैं।


दुनिया भर में उड़न तश्तरियों के सच होने पर आज भी बहुत विवाद है।


UFO आकाश में दिखाई देने वाले उन असामान्य पिंडों को कहा जाता है जो ना तो प्राकृतिक होते हैं और ना ही कोई मानवजनित उड़ने वाला यान।


World UFO Day organisation ने वर्ष 2001 में सभी UFO उत्साही लोगों के लिए इस दिन को मनाने का फैसला किया।


2 जुलाई, 1947 को, New Mexico के Roswell के पास रेगिस्तान में एक दुर्घटना के रूप में एक घटना की सूचना मिली थी। तब से, यह घटना एक साजिश सिद्धांत रही है।


यह माना जाता था कि अमेरिकी वायु सेना कुछ शीर्ष-गुप्त परियोजनाओं को अंजाम दे रही थी। William Brazel इस घटना के एकमात्र गवाह थे जिन्होंने बताया कि यूएफओ का मलबा रबर की पट्टियों और टिनफ़ोइल से बना था।

कुछ देश 24 जून को World UFO Day के रूप में भी मनाते हैं। 24 जून वह तारीख है जब एविएटर Kenneth Arnold ने रिपोर्ट की थी, जिसे आम तौर पर संयुक्त राज्य अमेरिका में पहली व्यापक रूप से रिपोर्ट की गई UFO के रूप में माना जाता है।


अर्नोल्ड ने यूएफओ को एक तश्तरी जैसी वस्तु या एक बड़े फ्लैट डिस्क डिजाइन के रूप में वर्णित किया था। यह ऐसा डिजाइन है जो दशकों से यूएफओ के लिए उपयोग किया जाता है।


उड़न तश्तरी ऐसे यानों पिंडों को कहा जाता है जो तश्तरी के आकार के अंतरिक्ष से बहुत तेजी से आने वाले पिंड होते हैं। इस तरह के यानों की तकनीक इंसानों में किसी के पास नहीं हैं इसलिए ऐसा माना जाता है की ये निश्चित तौर पर एलियन्स के द्वारा संचालित होती हैं।


World UFO Day Organisation लोगों को यूएफओ की तलाश करने वाले सितारों को देखने के लिए कहकर उत्सव के विभिन्न तरीकों को बढ़ावा देता है। ऐसा करने के पीछे मकसद लोगों को UFO के बारे में जानकारी देना है।