महत्वपूर्ण-दिवस-सप्ताह-वर्ष

World Oceans Day : हमारा महासागर, हमारी जिम्मेदारी

world-ocean-day
Spread It

महासागरों को ग्रह का फेफड़ा माना जाता है, जो जीवमंडल का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और भोजन और दवा का एक प्रमुख स्रोत है।


महासागर पृथ्वी की सतह का 70 प्रतिशत से अधिक भाग लेते हैं और इस ग्लोब में पाया जाने वाला लगभग 97 प्रतिशत पानी महासागरों में है।


हर साल 8 जून दुनियाभर में World Oceans Day यानी की “विश्व महासागर दिवस” मनाया जाता है।


महासागर दिवस पहली बार 8 जून 1992 को Rio de Janeiro में ग्लोबल फोरम में प्रस्तावित किया गया था, जो United Nations Conference on Environment and Development (UNCED) में एक समानांतर कार्यक्रम था।


2008 में, Canada के नेतृत्व में United Nations General Assembly ने resolution 63/111 पारित किया, जिसके माध्यम से उन्होंने घोषणा की कि 8 जून को हर साल विश्व महासागर दिवस के रूप में मनाया जाएगा।


पहला विश्व महासागर दिवस वर्ष 2009 में मनाया गया था।

इस दिन का उद्देश्य महासागरों पर मानव क्रियाओं के प्रभाव के बारे में जनता को सूचित करना और शिक्षित करना, नागरिकों के एक विश्वव्यापी आंदोलन को विकसित करना और दुनिया के महासागरों के स्थायी प्रबंधन के लिए एक परियोजना पर दुनिया की आबादी को संगठित करना और एकजुट करना है।


महासागरीय संसाधनों को समाप्त होने या खतरनाक स्तर तक क्षतिग्रस्त होने से बचाने के लिए महासागरों के सतत उपयोग की आवश्यकता है।

महासागरो में पेड़ पौधों, कई प्रजाति के जानवर और अहम आर्गेनिज्म का भंडार है, जो धरती के तापमान को बनाए रखने में अहम भूमिका निभाते हैं।


इस साल के World Oceans Day का थीम ‘The Ocean: Life and Livelihoods’ है। इसका मुख्य फोकस समुद्र के जीवन और आजीविका पर है।

यह सतत विकास के लिए महासागर विज्ञान के संयुक्त राष्ट्र दशक की अगुवाई में विशेष रूप से प्रासंगिक है, जो 2021 से 2030 तक चलेगा।


आज के इस दिन United Nations ने महासागरों को बचाने के लिए स्थायी प्रयासों और प्लास्टिक प्रदूषण को रोकने का आह्वान किया है।