महत्वपूर्ण-दिवस-सप्ताह-वर्ष

Maharashtra And Gujarat Foundation Day: भारत के दो बड़े राज्यों का गठन

maharashtra-day-and-gujarat-day
Spread It

भारत के दो बड़े राज्य महाराष्‍ट्र(Maharashtra) और गुजरात (Gujarat) की आज के दिन ही स्‍थापना हुई थी।

हर साल 1 मई को महाराष्ट्र दिवस (Maharashtra Day) और गुजरात दिवस (Gujarat Day) के तौर पर मनाया जाता है

1 मई 1960 को बॉम्बे प्रदेश को दो राज्यों में विभाजित किया गया था, जिसके बाद महाराष्ट्र और गुजरात राज्य का गठन किया गया।

भारत की आजादी के वक्‍त बॉम्‍बे प्रदेश में मराठी और गुजराती भाषा बोलने वाले लोगों की तादाद सबसे ज्‍यादा थी। मराठी और गुजराती भाषा बोलने वाले लोग अपने लिए अलग-अलग राज्य की मांग कर रहे थे।

भाषा के आधार पर बॉम्बे (मुंबई) को महाराष्ट्र की राजधानी बनाया गया।

भारत की तत्‍कालीन नेहरू सरकार ने 1 मई 1960 को बॉम्‍बे प्रदेश को ‘बॉम्बे पुनर्गठन अधिनियम 1960’ के तहत दो राज्‍यों में बांट दिया- महाराष्‍ट्र और गुजरात।

संयुक्ता महाराष्ट्र समिति (Sanyukta Maharashtra Samiti), बंबई राज्य को दो राज्यों में विभाजित करने के आंदोलन में सबसे आगे थी।

मराठियों का कहना था कि बॉम्‍बे उन्‍हें मिलना चाहिए क्‍योंकि वहां पर ज्‍यादातर लोग मराठी बोलते हैं, जबकि गुजरातियों का कहना था कि बॉम्बे उनकी बदौलत था।

लेखक और स्वतंत्रता सेनानी KM Munshi ने सबसे पहले महागुजरात नामक एक कांसेप्ट का सुझाव दिया।

वर्ष 1937 में कराची में हुई गुजरात साहित्य सभा के दौरान एक बैठक में यह सुझाव दिया गया था।

गुजरात ने ब्रिटिश राज के दौरान कराची और मुंबई के व्यवसायों में एक प्रमुख भूमिका निभाई।

अक्सर ‘Jewel of Western India’ कहा जाने वाला गुजरात, प्राचीन काल से वैश्विक मानचित्र पर है। ऐसा कहा जाता है कि गुजरात के बारे में यूनानियों को भी पता था।

महाराष्ट्र दिवस दादर के शिवाजी पार्क में एक परेड के साथ मनाया जाता है, जहां महाराष्ट्र के राज्यपाल भाषण देते हैं।

महाराष्ट्र दिवस को खास बनाने के लिए हर साल एक मई के दिन राज्य सरकार द्वारा कई रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।