महत्वपूर्ण-दिवस-सप्ताह-वर्ष

International Women’s Day: महिलाओं के योगदान, सम्मान और अधिकारों का दिन

womens-day
Spread It

‘यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः’ यानी की “जहां नारी का सम्मान होता है, वहां देवता वास करते हैं।” भारत विभिन्न संस्कृति वाला देश है। यहाँ दैविक काल से हीं नारी की पूजा की जाती है।

➜महिलाओं के योगदान, सम्मान और अधिकारों को दुनिया के सामने लाने और उन्हें खुद जागरूक करने के लिए हर साल 8 मार्च को दुनियाभर में International Women’s Day यानी की “अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस” मनाया जाता है।

➜अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को सबसे पहले अमेरिका के न्यूयार्क शहर में सोशलिस्ट पार्टी ने 28 फरवरी 1909 को मनाया था।

➜हालांकि, 1921 में पहली बार 8 मार्च के दिन महिला दिवस मनाया गया था।

➜महिला दिवस को मनाने का सुझाव Clara Zetkin ने एक कॉन्फ्रेंस के दौरान दिया था।

➜वह एक शिक्षिका के रूप में प्रशिक्षित थीं और Social Democratic Party (SPD) से जुड़ी थीं – जो आज देश की दो प्रमुख राजनीतिक पार्टियों में से एक है। वह श्रमिक आंदोलन और महिला आंदोलन दोनों का हिस्सा थीं।

➜वैसे तो, क्लारा एक मार्क्सवादी चिंतक और कार्यकर्ता थीं, मगर वो हमेशा महिलाओं के अधिकारों और महिलाओं पर होने वाले आत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाती थीं।

➜1910 में कोपेनहेगन में कामकाजी महिलाओं की एक इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस में 17 देशों की तकरीबन 100 महिलाएं शामिल हुई थीं, जिसमें क्लारा ने महिला दिवस को मनाने की बात को रखा था।

➜उन सभी महिलाओं ने क्लारा के इस सुझाव का समर्थन किया। तभी से पूरी दुनिया में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाने लगा।

➜सबसे पहली साल यानि 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया था। लेकिन शुरूआत में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस फरवरी के आखिरी रविवार को मनाया जाता था।

➞इस दिन को अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मान्यता 1975 में मिली, जब संयुक्त राष्ट्र ने इसे एक थीम के साथ मनाने की शुरूआत की।

➜इस दिन का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को समाज में समान अधिकार दिलाना है।

➜इस दिन को मनाने के लिए दुनियाभर में कई सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन कर महिलाओं को सम्मानित किया जाता है।

➜अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर महिलाओं के प्रति सम्मान स्वरूप, बिहार राज्य ने महिलाओं के लिए निः शुल्क कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव का ऐलान किया है।

भारत की कुछ महिलाओं की उपलब्द्धि-

गीता गोपीनाथ- पहली महिला IMF चीफ इकोनॉमिस्ट
डॉ स्वाति मोहन- नासा के पर्सिवियरेंस रोवर मिशन में मार्गदर्शन और कंट्रोल ऑपरेशन लीड
सुधा बालाकृष्णन- RBI की पहली मुख्य वित्तीय अधिकारी
निर्मला सीतारामन्- भारत की पहली महिला वित् मंत्री
अंकिती बोस- $1 बिलियन स्टार्ट-अप की पहली भारतीय महिला फाउंडर
हिमा दस- भारतीय एथलीट और पुलिस उपाधीक्षक
रोशनी नादर मल्होत्रा- IT कंपनी का नेतृत्व करने वाली पहली भारतीय महिला
ऋतु करीधाल- भारत की रॉकेट महिला और चंद्रयान 2 की मिशन डायरेक्टर
कमला हैरिस- पहली महिला और USA की वाईस प्रेसिडेंट
अरुणा रेड्डी- World Cup Gymnastics में पदक जीतने वाले पहले भारतीय जिम्नास्ट
मैरी कॉम- सात विश्व चैंपियनशिप में से प्रत्येक में पदक जीतने वाली अकेली महिला मुक्केबाज

Add Comment

Click here to post a comment

Featured