महत्वपूर्ण-दिवस-सप्ताह-वर्ष

International Day of Families 2021 : समाज की परिकल्पना परिवार के बिना अधूरा

international-day-of-families
Spread It

“घर जाकर परिवार के साथ रहने, अच्छा खाना खाने और आराम करने से बेहतर कुछ भी नहीं है।” यह कथन इस कोरोना काल में सत्य सिद्ध हुआ है क्योंकि इस महामारी में, लोगों ने परिवार का महत्त्व सीख लिया है।

हर साल 15 मई को परिवार की अहमियत बताने के मकसद से International Day of Families यानी क ‘अंतरराष्ट्रीय परिवार दिवस’ मनाया जाता है।

समाज की परिकल्पना परिवार के बिना अधूरी है। ऐसे में परिवार ही हैं जो लोगों को एक दूसरे से जोड़े रखने में अहम भूमिका निभाते हैं।

परिवार के महत्‍व को बनाए रखने के लिए 1993 में UN General Assembly ने हर साल अंतरराष्ट्रीय परिवार दिवस मनाने की घोषणा की थी। तब से इसे हर साल 15 मई को मनाने की घोषणा की गई थी।

संयुक्त राष्ट्र ने दुनिया भर में परिवारों की भलाई के लिए प्रमुख मुद्दों पर केंद्रित है जैसे स्वास्थ्य, शिक्षा, बच्चों के अधिकार, लिंग समानता, कार्य-परिवार संतुलन और दूसरों के बीच सामाजिक समावेश को ध्यान में रखते हुए अंतर्राष्ट्रीय परिवार दिवस मनाने का फैसला लिया।

इस दिवस को दुनिया भर के लोगों को उनके परिवारों से जोड़े रखने और परिवार से जुड़ी मुद्दों पर समाज में जागरूकता फैलाने को लेकर अंतरराष्ट्रीय परिवार दिवस मनाया जाता है।

परिवार हमारे रिश्‍तों को न सिर्फ मजबूती देता है, बल्कि हर गम और खुशी के मौके पर हमारे साथ खड़ा भी होता है।

आधुनिक समाज में परिवारों का विघटन तेजी से हो रहा है। ऐसे में परिवार एकजुट रहें और खासतौर पर युवा इसके महत्‍व को समझें यही अंतरराष्ट्रीय परिवार दिवस मनाने की अहम वजह है।

इस वर्ष के International Day of Families का थीम “Families and New Technologies” है।

लंबे समय तक COVID-19 महामारी ने काम, शिक्षा और संचार के लिए डिजिटल तकनीकों के महत्व को प्रदर्शित किया। यह थीम परिवारों की भलाई पर नई तकनीकों के प्रभावों पर केंद्रित है।

Ramesh Pawar : दूसरी बार रमेश पवार बने भारतीय महिला क्रिकेट टीम के कोच