महत्वपूर्ण-दिवस-सप्ताह-वर्ष

International Day for Biological Diversity: बायोडायवर्सिटी से ही पृथ्वी का संतुलन

international-day-of-biological-diversity
Spread It

पृथ्वी, अनगिनत जीवों का घर है। यहाँ पर विभिन्न प्रजाति के पौधे, जानवर, माइक्रो ऑर्गनिज़मस, आदि पाए जाते हैं।


बायोडायवर्सिटी, पृथ्वी पर जीवन की जैविक विविधता और परिवर्तनशीलता है।


यह इकोसिस्टम सेवाओं की नींव है जिससे मानव कल्याण घनिष्ठ रूप से जुड़ा हुआ है।


बायोडायवर्सिटी यानी की जैव विविधता पृथ्वी के संतुलन को बनाए रखने में एक प्रमुख भूमिका निभाती है।


हर साल 22 मई को International Day for Biological Diversity यानी की ‘अंतराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।


इस दिन को मनाने की पहल सबसे पहले 90 के दशक में की गई थी, जब संयुक्त राष्ट्र संघ के तत्वाधान में साल 1992 में ब्राजील के रियो डी जनेरियो में “पृथ्वी सम्मेलन” आयोजित किया गया था।

इस सम्मेलन में पर्यावरण संरक्षण पर विशेष बल दिया गया। इसके बाद 29 दिसंबर 1993 को पहली बार जैव-विविधता दिवस मनाया गया था।


दिसंबर 2000 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने दिसंबर के अंत में होने वाली कई अन्य छुट्टियों से बचने के लिए 22 मई को अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस के रूप में अपनाया।


प्रत्येक प्रजाति और जीव संतुलन बनाए रखने और जीवन का समर्थन करने के लिए एक जटिल वेब की तरह इकोसिस्टम में एक साथ काम करते हैं। यदि उनमें से एक विलुप्त हो जाता है, तो अन्य भी संकटग्रस्त होने लगेंगे।


जब भी जैव विविधता को समस्या होती है, तो मानवता को समस्या होती है। बायोलॉजिकल डाइवर्सिटी रिसोर्सेज वे स्तंभ हैं जिन पर हम सभ्यताओं का निर्माण करते हैं।


इस साल, इस दिन का उत्सव और जागरूकता अभियान, कोरोनावायरस महामारी के कारण विर्चुअली किया जाएगा।

आधुनिक समय में जैव-विविधता पर ध्यान देने की विशेष जरूरत है। ग्लोबल वार्मिंग के चलते पर्यावरण में विशेष बदलाव हुए है।


इस साल के International Day for Biological Diversity का थीम “We’re part of the solution” है।

इसे थीम के रूप में चुनने के पीछे का विचार इस तथ्य की ओर लोगों का ध्यान आकर्षित करना है कि जैव विविधता एक महत्वपूर्ण संख्या में सस्टेनेबल डेवलपमेंट में चुनौतियों का उत्तर है।

AIIMS ने जारी किए Black fungus से बचाव के गाइडलाइंस

Featured