विविध

आपदा में जरूरत मंदो की मदद को आगे आया PAGC foundation, किया ‘सखा’ के सातवें संस्करण का आयोजन

Spread It

इस आपदा की स्थिति में बहुत से ऐसे लोग हैं जो अपनी आजीविका चला पाने में सक्षम नहीं हैं। बहुत से लोग और संस्था ऐसे वक्त में गरीब और जरूरतमंद लोगों की सहायता कर रहे हैं। ऐसी ही एक ग़ैर लाभकारी कम्पनी (Non Profit Company) है पी ए जी सी फ़ाउंडेशन (P.A.G.C Foundation) जो मुश्किल की इस घड़ी में जरूरतमंदो की मदद के लिए आगे आया।

सखा अभियान के तहत 40 परिवारों को किया गया राशन वितृत

27 जून 2021 को इस फ़ाउंडेशन ने ‘सखा’ अभियान के 7वें संस्करण के तहत 40 परिवारों में राशन और अन्य रोज़मर्रा की ज़रूरी वस्तुओं का वितरण किया। ‘सखा हर विपदा में आपका साथी’ के सातवें संस्करण के अंतर्गत आर्थिक रूप से कमजोर 40 परिवारों को “आटा, दाल, नमक, चीनी, साबुन, सर्फ, हैंड वॉश, मास्क, सैनिटाइज़र, सेनेटरी पैड युक्त” 30 दिन की राशन किट दान की गयी है।इसके अलावा संस्था ने देशवासियों से इस अभियान से जुड़ कर जरूरतमंदो की मदद की अपील की है।

2019 में शुरू हूआ था अभियान

संगठन के संस्थापक और निदेशक, विनीत मिश्रा, जिन्होंने राशन किट के वितरण को सुनिश्चित करने का बीड़ा उठाया था, ने बताया कि उनका अभियान ‘सखा’ 2019 में पहली बार शुरू किया गया था।

अब तक हो चुका है 7 संस्करण का आयोजन

2019 से अब तक इस संस्था ने जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए ‘सखा’ के 7 संस्करण कराए हैं। ‘सखा’ अभियान के तहत किसी भी प्राकृतिक आपदा, वित्तीय समस्याओं का सामना कर रहे हैं या किसी दुर्घटना से प्रभावित लोग जिन्हें तत्काल मदद की आवश्यकता है उन तक यह फ़ाउंडेशन मदद पहुँचाता है।

इस संस्था ने अपने अभियान के सातवें संस्करण के तहत पिछले ढाई (2.5) महीनों से 28 राज्यों और 8 केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड से संबंधित सत्यापित चिकित्सा संसाधनों को समय पर उन लोगों तक पहुंचाने के लिए काम किया है, जिन्हें इसकी तत्काल आवश्यकता थी।

नारी सशक्तिकरण पर विशेष ध्यान

यह संस्था महिला सशक्तीकरण पर विशेष जोर देने के साथ-साथ समाज के पिछड़े वर्ग के उत्थान और कलंकित मुद्दे जैसे पीरियड शेमिंग, रेप सर्वाइवर शेमिंग इत्यादि को खत्म करने के लिए काम करती है।आज इस संस्था के स्वयंसेवक पूरे देश में हैं और जरूरतमंदो की सहायता में अपना योगदान दे रहे हैं।