विविध पासबुक फुल वॉल्यूम कॉर्नर

Double Eagle Coin : जौहरी को होती है असली हीरे की पहचान, 138 करोड़ में बेचा गया यह सिक्का

138-crore-coin
Spread It

कहते हैं खूबसूरती देखने वालों की नज़र में होती है। कभी-कभी बेहद साधारण सी दिखने वाली चीजें भी हकीकत में बहुत राज छिपाए हुए होती है। अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में दुर्लभ सोने के सिक्के की नीलामी हुई है। ताज्जुब की बात ये है की महज 20 डॉलर यानी 1400 रुपये के एक सिक्के की बोली करीब 138 करोड़ लगाई गयी है। यह दुर्लभ सिक्का, $18.9 मिलियन यानी करीब 138 करोड़ में बेचा गया है, जिसके साथ इसने इतिहास रच दिया है।

नीलामी घर सोथबी (Sotheby) में इस डबल ईगल सोने के सिक्के (Double Eagle Coin) की नीलामी हुई है। यह सिक्का शू डिजाइनर और कलेक्टर स्टुअर्ट वीट्समैन (Stuart Weitzman) द्वारा बेचा गया है। उन्होंने इसे 2002 में $7.6 मिलियन में लिया था। यह सोने का सिक्का 1933 में बना था, जिसके दोनों तरफ ईगल की आकृति उकेरी गई थी। इस सिक्के के एक तरफ उड़ता हुआ ईगल पक्षी है तो दूसरी तरफ आगे बढ़ते हुए लिबर्टी की आकृति है।

यह संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रचलन में आखिरी सोने का सिक्का था। यह उम्मीद की जा रही थी कि नीलामी के दौरान यह सिक्का 10 मिलियन डॉलर (73 करोड़ रुपये) और 15 मिलियन डॉलर (100 करोड़ रुपये) के बीच बेचा जाएगा, लेकिन जब नीलामी शुरू हुई तो बोली ने सबके होश उड़ा दिए। फ़िलहाल, सिक्के के खरीदार कौन है इस बात की जानकारी नहीं दी गयी है, उन्होंने अपनी पहचान राज ही रखने की अपील की है।

इस सोने के सिक्के के साथ ही दुनिया का सबसे दुर्लभ टिकट भी करीब 60 करोड़ रुपए में बिका है। Weitzman ने 1856 में जारी एक British Guiana One-Cent Magenta स्टैम्प भी बेचा। यह 8.3 मिलियन डॉलर (60 करोड़ रुपये) में नीलाम होने के बाद इतिहास का सबसे मूल्यवान टिकट बन गया है।