निधन-श्रद्धांजलि

दिल से दोस्ती कर कोरोना ने ले ली इस मशहूर जर्नलिस्ट की जान

Rohit-Sardana
Spread It

जीने की चाह रखूं या छोड़ दूं ?
इस ख्वाब की आस रखूं या छोड़ दूं ?
हर ऐतबार खो रहा बारी बारी
ऐ खुदा ये बता
तुझपे विश्वास रखूं या छोड़ दूं ?

ये वो दौर चल रहा है जब पता नहीं सुबह की नींद किसके खोने से खुले, अपनों के या सपनों के, खुले भी या ना पता नहीं। आज हम डर के चौखट पे बैठ पेट की आग बुझाने के लिए हर रोज मौत से दो चार कर रहें हैं। मौत से छिपते छिपाते चकमा देते हर रोज गुजरते है डरावनी गलियों से। पर कम्बख्त ये मौत है जो हमें धुंध ही लेता है कभी वक़्त तो कभी बेवक़्त। आज एक पत्रकार भी मौत से आंखमिचोली में बेवक्त पकड़ा गया और हार गया।

नहीं रहें मशहूर पत्रकार रोहित सरदाना(Rohit Sardana)। कोरोना ने हार्ट अटैक से दोस्ती की और इनके सांसो पर हावी हो गया। लंबे समय तक जी न्यूज में और फिर आज तक के मशहूर न्यूज़ एंकर रोहित सरदाना अब हमारे बीच नहीं रहें।

सुधीर चौधरी (Sudhir Chaudhary) ने ट्वीट किया, ‘अब से थोड़ी पहले जितेंद्र शर्मा का फोन आया। उसने जो कहा सुनकर मेरे हाथ काँपने लगे। हमारे मित्र और सहयोगी रोहित सरदाना की मृत्यु की ख़बर थी। ये वायरस हमारे इतने क़रीब से किसी को उठा ले जाएगा ये कल्पना नहीं की थी। इसके लिए मैं तैयार नहीं था। यह भगवान की नाइंसाफ़ी है…। ॐ शान्ति।’

लंबे समय से टीवी मीडिया का चेहरा रहे रोहित सरदाना इन दिनों ‘आज तक’ न्यूज चैनल प्रसारित होने वाले शो ‘दंगल’ की एंकरिंग करते थे। 2018 में ही रोहित सरदाना को गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार से नवाजा गया था।

वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई (Rajdeep Sardesai)ने भी रोहित सरदाना की मौत की जानकारी दी है। उन्होंने ट्विटर पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा, ‘दोस्तों बेहद दुखद खबर है। मशहूर टीवी न्यूज एंकर रोहित सरदाना का निधन हो गया है। उन्हें आज सुबह ही हार्ट अटैक आया है। उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना।’

रोहित ने अपने करियर में ऑल इंडिया रेडियो में बतौर उद्घोषक पहले अपनी आवाज़ को घर घर पहुंचाया तो ईटीवी, सहारा और ज़ी न्यूज़ में अपने विशेष तेवरों वाली एंकरिंग से हिंदुस्तान के कोने कोने में अपने नाम का परचम लहराया।