जेईई और नीट की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए एक अच्छी खबर है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के नेशनल टेस्ट अभ्यास ऐप का हिंदी संस्करण लॉन्च किया गया है। अब छात्र जेईई और नीट की तैयारी हिंदी माध्यम में भी कर सकते हैं। इससे पहले इस ऐप में सिर्फ अंग्रेजी भाषा में प्रश्न पत्र उपलब्ध थे। लेकिन अब हिंदी भाषा में भी प्रश्न उपलब्ध होंगे। इस संबंध में केंद्रीय एचआरडी मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट करके जानकारी साझा की है। बताया है कि लगातार अनुरोधों को ध्यान में रखते हुए ऐप का हिंदी संस्करण लॉन्च किया गया है।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि एप का अंग्रेजी संस्करण छात्रों के बीच काफी लोकप्रिय हो गया था। अब तक इसको लगभग 9.56 लाख से अधिक छात्रों ने डाउनलोड किया था। लगभग 16.5 लाख मॉक टेस्ट लिए गए हैं। एनटीए एप के हिंदी संस्करण के लांच के अवसर पर ‘निशंक’ ने कहा कि हर वर्ष बड़ी संख्या में विद्यार्थी जेईई (मेन), नीट एवं अन्य प्रतियोगी परीक्षाएं देते हैं, जिनमें से बहुत सारे निजी कोचिंग संस्थाओं तक नहीं जा पाते हैं। उनकी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए हमने आर्टिफिशल इंटेलिजेंस पर आधारित यह एप लांच किया है। छात्रों की जरूरत को देखते हुए इसे हिन्दी में भी लांच किया गया है। छात्र अपने स्मार्ट फोन या टेबलेट पर इसे गुगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि एनटीए एप पर रोज एक नया पेपर भेजेगा। छात्र अपने फोन को फ्लाइट मोड में डालकर इस पर अभ्यास कर सकते हैं। वे अपने पेपर का नतीजा भी फोन पर देख सकते हैं। इससे छात्र अपनी तैयारियों का मूल्याकन कर सकते हैं।

ता दें कि लॉकडाउन के दौरान जेईई और नीट की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए एनटीए और मानव संसाधन विकास मंत्री ने 19 मई 2020 को नेशनल टेस्ट अभ्यास ऐप को लॉन्च किया था। इस ऐप के माध्यम से जेईई और नीट की तैयारी कर रहे छात्र फ्री मॉक टेस्ट दे सकते हैं। इस ऐप में प्रत्येक दिन एक प्रश्न पत्र अपलोड किया जाता है। जिसे हल करने के लिए 3 घंटे समय निर्धारित रहता है। छात्र अपनी सहूलियत के अनुसार दिन में कभी भी इसका अभ्यास कर सकते हैं।

यह JEE (Mains) और NEET की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों के लिए बहुत उपयोगी ऐप है।’ इस पर स्टूडेंट्स को रोजाना JEE Main और NEET का एक फुल लेंथ पेपर मिलता है। पेपर को सोल्व करने के लिए तीन घंटे का समय दिया जाता है। छात्र किसी भी समय टेस्ट दे सकता है। टेस्ट के बाद फौरन बाद मोबाइल स्क्रीन पर स्कोर कार्ड आ जाएगा। इतना ही नहीं, मॉक टेस्ट के बाद एक्सप्लेनेशन के साथ सही उत्तर भी बताया जाएगा। एप में यह भी बताया जाएगा कि आप किस विषय पर कितना समय लगा रहे हैं। कहां आप कमजोर हैं और कहां आपकी स्ट्रेंथ है। इसके अलावा ऐप आपको आपका सब्जेक्ट वाइज स्कोर भी बताएगी।

ऐप लॉन्च होने के बाद से अब तक लगभग 10 लाख छात्र इस ऐप को डाउनलोड कर चुके हैं। वर्चुअल प्रैक्टिस कराने वाला यह ऐप छात्रों के बीच काफी लोकप्रियता हासिल कर चुका है। इस ऐप के माध्यम से अब तक कुल 26 पेपरों के लिए छात्र मॉक टेस्ट दे चुके हैं।