कोरोना संकट काल में इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट की ओर से टैक्‍सपेयर्स को रिफंड देने का सिलसिला जारी है। देशभर में जारी लॉकडाउन के बीच इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) ने अब तक 16.84 लाख टैक्सपेयर्स को 26,424 करोड़ रुपए के टैक्स रिफंड (Tax Refund) जारी किए।  कोविड-19 संकट  के बीच लोगों कैश की दिक्कत का सामना न करने पड़े इसके लिए आईटी डिपार्टमेंट की ओर से रिफंड जारी किए जा रहे हैं।  लेकिन कई लोगों को रिफंड मिलने में परेशानी हो रही है।  इसका ख्याल रखते हुए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट टैक्स रिफंड पाने का आसान तरीका बताया है।

दरअसल, इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने टैक्‍सपेयर्स को कहा है कि बैंक खाते को प्री-वैलिडेट करा लें। क्योंकि  अब ई-रिफंड ही जारी किए जाएंगे इससे रिफंड मिलने में देरी नहीं होगी। आयकर रिटर्न फाइल करने के बाद यह सुनिश्चित करें कि आपको किस खाते में रिफंड की रकम चाहिए। प्री-वैलिडेशन के अलावा यह भी जरूरी है कि आपका खाता पर्मानेंट अकाउंट नंबर यानी PAN से लिंक्ड हो। अगर आप रिफंड क्लेम करना चाहते हैं तो बैंक खाते का प्री-वैलिडेशन और PAN से लिंक्ड होना सुनिश्चित करें।

ये टैक्स बेनिफिट्स सिर्फ उन्हीं बैंक खातों में पहुंचेंगे जो पैन से जुड़े हुए हैं, और इनकम टैक्स ई-फाइलिंग वेबसाइट (www.incometaxefiling.gov.in) पर प्री-वैलिडेटेड हैं। आप ऑनलाइन भी बैंक अकाउंट को प्री-वैलिडेट करा सकते हैं. आइए स्‍टेप बाई स्‍टेप समझते हैं इसका प्रोसेस.. 

  • सबसे पहले https://www.incometaxindiaefiling.gov.in/ वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहां आपको लॉगिन करना होगा।  इसके बाद एक नया पेज खुलेगा।
  •  इस पेज पर प्रोफाइल सेटिंग्स का टैब होगा, इस टैब को क्‍लिक करते ही प्री-वैलिडेट योर बैंक अकाउंट ऑप्शन पर जाना होगा।
  • अगर आपका कोई दूसरा खाता पहले से ही प्री-वैलिडेटेड है तो वह स्क्रीन पर दिखेगा।
  •  अगर ऐसा नहीं है तो Add का ऑप्‍शन आएगा, जिसे क्लिक करना होगा। 
  • अब एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको पैन, बैंक खाता नंबर, अकाउंट का प्रकार, IFSC, बैंक का नाम, बैंक ब्रांच, मोबाइल नंबर समेत कई जरूरी
      जानकारियां भरने होंगे।
  •   डिटेल्स भरने के बाद प्री-वैलिडेट बटन पर क्लिक करें।
  •  इसके बाद एक मैसेज आएगा, जिसमें लिखा होगा- आपकी प्री-वैलिडेटिंग बैंक अकाउंट रिक्वेस्ट सबमिट हो गई है।