यूजीसी ने एक बड़ा फैसला सुनाते हुये स्टूडेंट्स को एक साथ दो डिग्री कोर्सेस करने की छूट दे दी है. यानी अब आप यूनिवर्सिटी से बीए करते हुये इग्नू या किसी और डिस्टेंस एजुकेशन इंस्टीट्यूट से बीबीए भी उसी साल एक साथ कर सकते हैं. पिछले कई सालों से स्टूडेंट्स को यह शिकायत रहती थी कि एक साथ दो कोर्स क्यों नहीं कर सकते जबकि कई बार उनके भविष्य की योजनाओं के लिये यह आवश्यक होता था. लेकिन पहले एक साथ एक ही वर्ष में दो डिग्री कोर्स करना गलत माना जाता था जिसकी अनुमति नहीं थी.

लेकिन अब स्टूडेंट ऐसा कर सकते हैं. हालांकि यहां भी एक कंडीशन के साथ परमीशन मिली है, जिसके तहत इन दो डिग्री कोर्सेस में से एक तो रेग्यूलर कोर्स हो सकता है पर दूसरा ओपेन, डिस्टेंस लर्निंग या फिर ऑनलाइन मोड से किया जा सकने वाला कोर्स होना चाहिये. यानी दोनों डिग्री कोर्स रेग्यूलर नहीं हो सकते. एक प्रपोजल पर विचार करते हुये यूजीसी ने यह निर्णय लिया है.

दो डिग्रियों में से एक नियमित तरीके से और दूसरा ऑनलाइन डिस्टेंस लर्निंग मोड (ODL – Online Distance Learning) से पूरा करना होगा. उन्होंने कहा कि इस संबंध में आधिकारिक अधिसूचना जल्द ही जारी की जाएगी.

गौरतलब है कि यूजीसी ने पिछले वर्ष उपाध्यक्ष भूषण पटवर्द्धन के नेतृत्व में एक समिति का गठन किया था जिसे एक विश्वविद्यालय या अलग-अलग विश्वविद्यालयों से दूरस्थ, ऑनलाइन माध्यम से दो डिग्रियां एक साथ करने के प्रस्ताव पर विचार करना था.

बहरहाल, यूजीसी ने इससे पहले भी साल 2012 में एक समिति गठित कर उसे इस विषय पर विचार करने को कहा गया था. उस समिति ने इस विषय पर व्यापक विचार विमर्श किया था लेकिन इस प्रस्ताव (दो डिग्री एक साथ करने) को आगे नहीं बढ़ाया जा सका था.