जेईई मेन प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन खुलने की जानकारी केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर दी। उन्होंने ट्वीट में कहा, ‘कई अभ्यर्थियों की ओर से मिले अनुरोधों पर विचार करने के बाद मैंने एनटीए को ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म में शहर के चयन व अन्य पार्टिकुलर्स में करेक्शन का ऑप्शन फिर से खोलने की सलाह दी है।’ जिससे अब जेईई के आवेदन की त्रुटि को भी सुधार पाएंगे।

रमेश पोखरियाल निशंक ने पब्लिक नोटिस जारी कर बताया कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने जेईई मेन के आवेदन में अपने शहर के चुनाव में सुधार के लिए एक और मौका दिया है। 25 से 31 मई के बिच अपने आवेदन में सुधार कर सकते है।  बहुत सारे छात्रों के द्वारा सुधार के मांग पर यह निर्णय लिया गया है।  उन्होंने आगे लिखा, “मैंने एनटीए को सुझाव दिया था कि वे स्टूडेंट्स को जेईई मेन 2020  एप्लिकेशन फॉर्म सबमिट करने के लिए एक और मौका दें. फॉर्म 25 से 31 मई तक ही उपलब्ध है।

जेईई मेन 2020 परीक्षा में शामिल होने के इच्छुक उम्मीदवार 25  मई से 31 मई तक जेईई मेन  एग्जाम के लिए ऑफशियल वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।  वहीं, जो उम्मीदवार कोरोना वायरस महामारी के चलते जेईई मेन एग्जाम के लिए आवेदन नहीं कर सके थे वे भी 25  से 31  मई के बीच परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं.
बता दें कि उम्मीदवार जेईई मेन एग्जाम के लिए 31  मई को शाम 5 बजे तक ही आवेदन कर सकते हैं और रात 11.50 बजे तक एप्लिकेशन फीस जमा कर सकते हैं. उम्मीदवार क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग यूपीआई या PAYTM के जरिए एप्लिकेशन फीस जमा कर सकते हैं. एग्जाम से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी के लिए उम्मीदवार NTA या JEE Main की ऑफिशियल वेबसाइट पर ही लॉग इन करें.

JEE Main – 2 परीक्षा अप्रैल में होने वाली थी लेकिन कोरोना महामारी के चलते अब यह जुलाई में होने जा रही है। जुलाई जेईई मेन परीक्षा के बाद दोनों एनटीए स्कोर (जनवरी का जेईई मेन स्कोर और जुलाई का जेईई मेन स्कोर) के आधार पर रैंकिंग तय की जाएगी।

जेईई मेन 2020 भारत में कई इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित एक राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है. जेईई मेन के आधार पर छात्रों को एनआईटी, सीएफटीआईएस और अन्य इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश मिलता हैं. जेईई मेन के द्वारा छात्रों को जेईई एडवांस मे बैठने का अवसर मिलेगा. यह परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित करायी जाती है जो कि जनवरी और अप्रैल माह में होती है.