ट्रेंड टॉक लाइफ स्टाइल

अहमियत इंटरनेशनल शेफ डे की

‘शेफ’ की अहमियत हमारी जिंदगी में बहुत बड़ी होती है क्योंकि बिना शेफ के हमें स्वादिष्ट खाना खाने को नही मिलता है। शेफ हमारे चारों और हैं। हमें इन तथ्यों को महसूस करने के लिए बस अपने चारों ओर देखने की और उनके हाथ की बनी अच्छा खाना खाने की आवश्यकता है। अगर हमारे घर में भी कोई अच्छा खाना बनता है तो हम उसे शेफ का हीं दर्ज़ा देते हैं। हर साल 20 अक्टूबर को ‘इंटरनेशनल शेफ डे’ के रूप में मनाया जाता है। यह दिन उन लोगों को धन्यवाद् देने के लिए है और उनके काम को सम्मानित करने के लिए है जो हमारे लिए स्वादिष्ट भोजन बनाते हैं।

इंटरनेशनल शेफ डे की शुरुआत 2004 में शेफ ‘Bill Gallagher’ द्वारा हुई। Gallagher, ‘World Association of Chefs Societies’ के प्रेजिडेंट भी थे। 2004 के बाद, दुनियाभर के शेफ ने इस पेशे को मनाने के लिए इंटरनेशनल शेफ डे का उपोयग करते हैं। वे ऐसा मानते हैं की उनके ज्ञान और पाक कौशल को अगले पीढ़ी के शेफ को गर्व और प्रतिबद्धता की भावना से सौंपना उनका कर्तव्य है। 16 वर्षों से वर्ल्ड शेफ्स ने इस पेशे का सम्मान करने और लोगों को स्वस्थ भोजन के बारे में शिक्षित करने के लिया इंटरनेशनल शेफ डे का उपयोग किया है।

इस साल की इंटरनेशनल शेफ डे का थीम ‘हेल्दी फ़ूड फॉर द हेल्दी फ्यूचर’ है। आने वाली पीढ़ी के लिए एक स्वस्थ ग्रह सुनिश्चित करने के लिए, यह मत्वपूर्ण है की हम अपने बच्चों को वास्तव में पर्यावरण से होने वाले भोजन के उत्पादन और खपत के प्रभाव के बारे में सीखाना शुरू करें। इसी के कारण ‘नेस्ले प्रोफेशनल’ ने इस वर्ष इंटरनेशनल शेफ डे के लिए अपना थीम स्थिरता और पर्यावरण के आसपास केंद्रित की है।

अनिश्चतता हमारे चारों ओर है। कोरोना कल ने देश की खाद्य प्रणाली को बहुत क्षति पहुंचाई है। हमें इससे उबरने के लिए प्रयास करते रहना चाहिए। हम जो जानतें है वो बस यह है की हमें खुद को और दूसरों को स्वस्थ रखने की ज़रूरत है। एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली होना और ‘तनाव ख़त्म करने वाले’ खाद्य पदार्थ खाने से हमें इन चुनौतीपूर्ण समय में मद्दद मिलेगी। वर्ल्ड शेफस का लक्ष्य बच्चों को एक स्वस्थ जीवन के लिए तैयार करना है।