हेल्थ

बिहार में आयुष्मान हेल्थ योजना के लाभुको की सुविधाएं बढ़ी

बिहार में आयुष्मान योजना के अंतर्गत अब एंजीयोग्राफी, बायोप्सी व जबड़े की सर्जरी सहित अन्य बीमारियों का इलाज भी हो सकेंगे। राज्य में हेल्थ पैकेज बेनिफिट 2.0 के लागू होने के बाद इसके तहत 874 पैकेजों के तहत इलाज की 1591 प्रक्रिया शामिल किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इसमें गर्भाश्य कैंसर टेस्ट, लंग्स सिस्ट सर्जरी, स्प्लीन लेप्रोस्कोपी, पाइल्स, हर्निया लेप्रोस्कोपिक सर्जरी, हाई रिस्क प्रीगनेंसी टेस्ट, डॉयग्नोस्टिक/स्टेजिंग लेप्रोस्कोपिक कैंसर टेस्ट आदि शामिल किए गए हैं। राज्य में आयुष्मान योजना के 1.08 करोड़ लाभुक हैं।

साथ ही बाइपास सर्जरी सहित अन्य बीमारियों के इलाज की दर भी बढ़ायी गयी है।

बाइपास सर्जरी के लिए निधारित दर 80 हजार रुपये से बढ़ाकर 1,19000 कर दिया गया है।

अस्थायी पेसमेकर के लिए निधारित दर 05 हजार रुपये से बढ़ाकर 19, 200 रुपये कर दिया गया है। सामान्य सर्जरी की दरों को भी बढ़ाया गया है।

हर्निया के ऑपरेशन के लिए निधारित दर 15000 रुपये से बढ़ाकर 20000 रुपये कर दिया गया है।

ऑपरेशन से प्रसव और हाई रिस्क डिलिवरी के लिए 9000 की जगह अब 11500 रुपये की दर निर्धारित की गयी है।

गर्भाश्य कैंसर के इलाज के लिए 20000 की जगह 38000 रुपये खर्च किए जा सकेंगे।

टोटल हिप रिप्लेस्मेंट के लिए निधारित दर 75000 की जगह 1,35000 रुपये कर दिया गया है।

टोटल नी रिप्लेस्मेंट के लिए 80,000 की जगह अब 1,25,000 रुपये खर्च किए जाएंगे।