इंटरटेनमेंट लाइफ स्टाइल

नहीं रहीं Oscar Lady

काफी लम्बे समय से बीमाड़ी से लड़ रहीं देश के लिए ऑस्कर जितने वाली भानु अथैया ने 91 वर्ष की उम्र में अपने घर में आखरी सांसे ली। आठ साल पहले भानु अथैया के ब्रेन में ट्यूमर मिला था और पिछले तीन सालों से वो बेड पर थी क्योकि उनके शरीर भाग लकवा से ग्रसित हो गया था।

भानु अथैया का जन्म 28 अप्रैल 1929 में कोल्हापुर में हुआ था। साल 1982 में आई फ़िल्म गाँधी के लिए उन्हें बेस्ट कस्टूम डिज़ाइनर के लिए ऑस्कर अवार्ड मिला था और ये देश का पहला ऑस्कर था। साल 1956 में लेजेंड्री डायरेक्टर गुरुदत्त की सुपरहिट फिल्म सीआईडी से अपने कस्टूम डिज़ाइनर करियर की शुरुआत की थी। वे बॉलीवुड के कई दिगज निर्देशकों के साथ काम कर चुकी थी। इन्हे ऑस्कर लेडी के नाम से भी जाना जाता है।

उन्हें एकडेमी अवार्ड से भी नवाजा जा चूका था उनके बेहतरीन कस्टूम डिज़ाइन के लिए। उन्हें मशहूर डायरेक्टर रिचर्ड एटेन्बर्ग की फिल्म गाँधी के लिए बेस्ट कस्टूम डिज़ाइन के लिए ऑस्कर मिला था। ये अवार्ड भानु के साथ साथ जॉन मोलो को भी मिला था। 2012 में भानु को एकादमी ऑफ़ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंस को अपना ऑस्कर अवार्ड लौटा दिया था,क्योकि वो उस अवार्ड को सुरक्षित रख सके। उन्हें दो नेशनल अवार्ड से भी नवाजा जा चूका था। उन्हें ये अवार्ड्स फिल्म लगान और लेकिन के लिए दिया गया था। भानु अथैया का अंतिम संस्कार दक्षिण मुंबई के चंदनवाड़ी में किया गया।