कॉम्पिटीशन डेस्क खेल

8 फेरो वाला विवाह

पहलवान संगीता फोगाट, पद्म श्री बजरंग पुनिया के साथ शादी के बंधन में बंध गईं। शादी चरखी दादरी जिले के गांव बलाली में बेहद सामान्य ढंग से देर रात को संपन्न हुआ। शादी के बाद, कुश्ती क्षेत्र के दोनों दिग्गज काफी खुश थे और जीवन में एक नया चरण शुरू करने के लिए उत्साहित थे। संगीता, दंगल गर्ल गीता और बबीता फौगाट की छोटी बहन हैं।

सोनीपत से बजरंग, संगीता की डोली को अपने घर ले जाने के लिए केवल 31 बारातियों के साथ पहुंचे। कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम के दिशानिर्देशों के कारण मेहमानों की संख्या सीमित थी। शादी की सभी रस्मों के बाद संगीता और बजरंग ने सात की जगह आठ फेरे लेकर एक-दूसरे को जीवनसाथी बनाया। आठवां फेरा बेटी बचाने के नाम किया। बता दें कि संगीता की बड़ी बहन गीता और बबीता भी आठ फेरे ले चुकी हैं और परिवार की इसी परंपरा को संगीता ने भी कायम रखा।

अपनी खुशी जाहिर करते हुए संगीता ने अपने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा “तुम मुझे पूऱा करती हो। मेरे जीवन के साथी। जीवन का यह एक नया अध्याय प्यार और खुशी से भरा होगा।” बजरंग ने भी फेसबुक पर पोस्ट करते हुए लिखा, विवाह का भी एक अद्भुत रसम होता है। आज में ने अपना जीवनसाथी चुना है और उससे उसके घर से अपने घर लेके आया हूँ । फिर भी ऐसा लग रहा है की में ने एक और परिवार पा लिया है। ज़िंदगी की इस नए अध्याय की शुरुआत करने जा रहा हूँ। खुश भी हूँ और थोड़ा सा बेचैन भी। अब इस परीक्षा का सामना करने का समय आ गया है दोस्तों। आपके स्नेह और आशीर्वाद के लिए धन्यवाद।

बजरंग पूनिया और संगीता फौगाट दोनों अंतरराष्ट्रीय स्तर के पहलवान हैं। संगीता फोगाट पूर्व पहलवान और कोच महावीर सिंह फोगट की बेटी है। संगीता ने आयु-स्तरीय अंतर्राष्ट्रीय चैंपियनशिप में पदक जीते हैं। वह 59 किलोग्राम फ्री स्टाइल श्रेणी में प्रतिस्पर्धा करती है। उन्होंने अपना करियर प्रो रेस्टलिंग लीग से शुरू किया जहा उन्होंने दिल्ली सुल्तान को रिप्रेजेंट किया। बजरंग पूनिया एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाले भारत के 9वें पहलवान हैं। उन्होंने 2018 के एशियन खेलों में पुरुषों की 65 किलोग्राम वर्ग स्पर्धा के फाइनल में जापान के पहलवान तकातानी डियाची को एकतरफा मुकाबले में 11-8 से शिकस्त दी।