देश फुल वॉल्यूम 360°

हीरे की अंगूठी से बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, है कमाल का नाम

भारत के एक जौहरी ने सबसे अधिक हीरे के साथ एक अंगूठी बनाने के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है। हैदराबाद के ’कोटि श्रीकांत’, जो कि चंदूभाई द्वारा ‘द डायमंड स्टोर’ के मालिक हैं, ने 7,801 प्राकृतिक हीरों का उपयोग करते हुए ‘द डिवाइन – 7801 ब्रह्म वज्र कमलम’ नाम की स्पार्कलिंग रिंग बनाई। यह रिकॉर्ड दक्षिण भारत के गहनों के क्षेत्र में पहला गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड भी है।

दिलचस्प बात यह है कि अंगूठी का नाम और डिज़ाइन ब्रह्मा कमलम से प्रेरित है, जो हिमालय में पाया जाने वाला एक दुर्लभ फूल है और माना जाता है कि इसमें औषधीय गुण होते हैं। वज्र का तात्पर्य संस्कृत और तेलुगु में ‘हीरा’ से है। यह अंगूठी छह परतों के रूप में है, जिसमें से पाँच परतों में आठ पंखुड़ियाँ हैं, जबकि छठी परत में छह पंखुड़ियाँ हैं, जिनके बीच में तीन छोटे-छोटे पराग हैं।

रिंग को पहली बार सितंबर 2018 में कल्पना के रूप में बनाया गया था, और इसके पूरा होने में 11 महीने से अधिक का समय लगा था। अंगूठी के लिए डिजाइन की प्रक्रिया 2018 के सितंबर में शुरू हुई, जब यह सिर्फ एक पेंसिल ड्राइंग थी। भारतीय सांस्कृतिक परंपराओं के कारण, एक फूल को डिजाइन प्रेरणा के रूप में चुना गया था। एक बार डिजाइन को अंतिम रूप देने के बाद, हॉलमार्क ज्वैलर्स टीम ने कंप्यूटर एडेड डिजाइन (सीएडी) का इस्तेमाल किया ताकि यह पता लगाया जा सके कि उनके द्वारा डिजाइन की गई अंगूठी बनाने के लिए उन्हें कितने हीरे की आवश्यकता होगी।

इसका प्रस्तुतिकरण गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के लिए अगस्त 2019 में किया गया था। सितंबर 2020 में कई दौरों के सत्यापन और सबूतों के आदान-प्रदान के बाद, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने इसे Most Diamonds Set in One Ring सम्मान के धारक के रूप में घोषित किया। श्रीकांत एक आभूषण डिजाइनर विशेषज्ञ हैं। उन्होंने Indian Institute of Jewellery, Mumbai, से Computer-Aided Jewellery Design में और Manual Designing में डिप्लोमा किया और उस्मानिया विश्वविद्यालय से एमबीए किया। वह Gemological Institute of America से प्रमाणित डायमंड ग्रेजुएट भी हैं।