देश फुल वॉल्यूम 360°

जानें किनकी याद में बना 100 रुपए का सिक्का

राजमाता विजयाराजे सिंधिया  के जन्म शताब्दी समारोह का समापन आज (12 अक्टूबर) उनकी जयंती के अवसर पर होगा. इस कार्यक्रम को  नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  विजयाराजे सिंधिया की स्मृति में 100 रुपये का सिस्का जारी करेंगे. जिसकी जानकारी प्रधानमंत्री अपने ट्विटर हैंडल से दिया जिसमे उन्हें लिखा की “12 अक्टूबर को राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जयंती है. इस खास अवसर पर 100 रुपये का स्मारक सिक्का जारी किया जाएगा. यह उनके जन्मशताब्दी उत्सव का हिस्सा है और उनके महान व्यक्तित्व को श्रद्धांजलि देने का एक मौका.” ग्वालियर को यह सम्मान दूसरी बार मिल रहा है। इससे पहले भारत रत्न अटल विहारी वाजपेयी के सम्मान में भी 100 रुपये का स्मारक सिक्का जारी हो चुका है।

कौन हैं विजयराज सिंधिया ?

विजया राजे सिंधिया, जोकि ग्वालियर की राजमाता के रूप में लोकप्रिय हैं , एक प्रमुख भारतीय राजशाही व्यक्तित्व के साथ-साथ एक राजनीतिक व्यक्तित्व भी थी। ब्रिटिश राज के दिनों में, ग्वालियर के आखिरी सत्ताधारी महाराजा जिवाजीराव सिंधिया की पत्नी के रूप में, वह राज्य के सर्वोच्च शाही हस्तियों में शामिल थी। बाद में, भारत से राजशाही समाप्त होने पर वे राजनीति में उतर गई और कई बार भारतीय संसद के दोनों सदनों में चुनी गई। वह कई दशकों तक जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी की सक्रिय सदस्य भी रही। राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया और मध्यप्रदेश की कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया विजया राजे सिंधिया की बेटी है और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पोते हैं

सिक्के की क्या है विशेषता ?

इसके पहले भाग पर राष्ट्र का प्रतिक चिन्ह अशोक स्तंभ व इसके नीचे सत्यमेव जयते अंकित है। हिंदी में भारत व रोमन में इंडिया लिखा हुआ  है। इसके पिछले भाग पर राजमाता विजयाराजे सिंधिया का सुंदर चित्र बना हुआ  है। चित्र के गोलाकार में विजयाराजे सिंधिया जन्म शताब्दी चित्र के नीचे जन्म दिनांक 1919 व जन्म शताब्दी वर्ष 2019 अंकित है। यह सिक्का प्रचलन में कभी नहीं आएगा। केवल संग्रहकर्ताओं के लिए हैं।