देश फुल वॉल्यूम 360°

Gandhi Jayanti 2020 : कला का अनोखा अवतार, दो धरोहर एक साथ

2 अक्टूबर गाँधी जयंती  जिसे हम अहिंसा दिवस के नाम से भी जानते है। भारतीय इतिहास में इनका नाम सबसे प्रेरणादायक महापुरूषों में शुमार है। इन्होंने भारत के स्वतंत्रता दिलाने के लिए निस्वार्थ भाव से योगदान दिया था।  यही नहीं गांधी जी (Gandhi Ji) एक महान नेता के साथ समाज सुधारक भी थे।  उन्होंने अपना पूरा जीवन निडर होकर लोगों के अधिकारों और सम्मान के लिए संघर्ष किया। महात्मा गांधी जी (Mahatma Gandhi Ji) को हम ‘राष्ट्र का पिता’ (Father Of Nation) भी कहते हैं।

बापू हर किसी के प्रेरणा का स्रोत हैं। गाँधी जयंती के इस शुभ अवसर पे हर कोई अपने अनुसार से बापू के प्रति स्नेह दिखा रहें हैं। पटना के प्रणव कुमार जो कि आर्ट एंड क्राफ्ट कॉलेज के छात्र हैं, उन्होंने पीपल के पत्ते पर गाँधी जी की बेहतरीन चित्ररेखा बनाई हैं। इस फोटो को देख एक क्षण को देख यह भरोसा करना मुश्किल हो जायेगा की एक छोटे से पीपल के पत्ते पर ऐसी कलाकारी करना मुमकिन कैसे हैं।

प्रणव कुमार कहते हैं कि जैसे गाँधी और उनकी बातें इस देश की धरोहर और आदर्श है ठीक वैसे ही पीपल का पेड़ भी हमारे प्रकृति का एक धरोहर हैं। और फिर मैंने दो धरोहर को एक साथ मिलकर इस तस्वीर को बनाई। प्रणव का ख्वाब है की वो अपने देश के धरोहर को जिन्दा रखने के लिए अपनी कला के द्वारा लोगो को जागरूक करें।  प्रणव पीपल के पत्ते पर सिर्फ गाँधी जी ही नहीं अटल बिहारी वाजपेयी, भगवन श्री कृष्ण जैसी कई सारी कलाकृतियां बनाये हैं।

प्रणव को बचपन से ही अलग अलग तरह की पेंटिंग करने का शौक रहा। और इस शौक को उनका पैशन बनाने में उनके पिता अर्जुन प्रसाद और उनके मेंटर रुपेश जी ने अपना भरपूर योगदान दिया।