इवेंट

पुरातन पहचान के साथ आधुनिकता का नया आयाम बनेगा “आगरा”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज आगरा मेट्रो रेल परियोजना का वर्चुअली उद्घाटन किये। दो कॉरिडोर वाले इस प्रोजेक्ट से टूरिस्टों को काफी मदद मिलेगी। इस परियोजना के तहत टूरिस्ट स्पॉटस जैसे की ताजमहल, सिकंदरा को रेलवे स्टेशन, आगरा फोर्ट और बस स्टैंड से कनेक्ट किये जायेंगे।

इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आगरा के पास बहुत पुरातन पहचान तो हमेशा रही है, अब इसमें आधुनिकता का नया आयाम जुड़ रहा है, सैकड़ों वर्षों का इतिहास संजोए ये शहर अब 21वीं सदी के साथ कदमताल मिलाने के लिए तैयार हो रहा है। आगरा में स्मार्ट सुविधाएं विकसित करने के लिए पहले ही लगभग 1,000 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है।

आगरा के 15 बटालियन पीएसी परेड मैदान में उद्घाटन कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल रहे। पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा वर्चुअली इस कार्यकर्म में शामिल रहे। केंद्र सरकार द्वारा की गयी इस परियोजना से आगरा की 26 लाख की आबादी के साथ ही हर साल 60 लाख से अधिक ट्यूरिस्ट जो आगरा आते हैं उनको भी काफी मदद मिलेगी। इस परियोजना में लगभग 8,379.62 करोड़ रुपयों की लागत लगेगी। लगभग 5 साल में पूरी होने वाली यह परियोजना, आगरा में करीब 29 किलोमीटर के दायरे में मेट्रो रेल की सेवा मिलेगी।

परियोजन के पहले पार्ट में सिकंदरा से ताज ईस्‍ट गेट कॉरिडोर तैयार की जाएगी। मानना है की पहले पार्ट, दिसंबर 2022 तक सिकंदरा से ताज ईस्ट गेट तक मेट्रो सेवा शुरू कर दी जाएगी। ताज ईस्‍ट से जामा मस्जिद तक 6 किलोमीटर तक पप्राइमरी सेक्‍शन सबसे पहले तैयार किया जायेगा। दूसरे कॉरिडोर में आगरा कैंट से कालिंदी विहार के बीच कंस्ट्रशन होगा। इस कॉरिडोर की लंबाई 15.4 किलोमीटर की होगी और इसके अंतर्गत कुल 14 स्टेशन बनाये जायेंगे। इसमें आगरा कैंट, आगरा कॉलेज, हरिपर्वत चौराहा सदर बाजार, कलेक्ट्रेट, सुभाष पार्क, संजय प्लेस, एमजी रोड, रामबाग, फाउंड्री नगर, आगरा मंडी, सुल्तानगंज क्रासिंग, कमला नगर और कालिंदी विहार मेट्रो स्टेशन होंगे।