इवेंट

ब्रह्माण्ड का अनूठा मिलन, इस दिन देखें गुरु शनि की होगी दोस्ती

सौरमंडल के दो सबसे बड़े ग्रह बृहस्पति और शनि सैकड़ों सालों से खगोलविदों को मोहित करते रहे हैं। अब ऐसे ही एक और चौंकाने वाली घटना होने वाली है। बृहस्पति और शनि रात के आकाश में पूरी तरह से पंक्तिबद्ध होने वाले हैं क्योंकि दोनों ग्रह 21 दिसंबर को इतने करीब पहुंच जाएंगे कि वे स्पर्श करते और एक दोहरे ग्रह की तरह दिखेंगे।

Rice University के खगोल विज्ञानी Patrick Hartigan ने एक बयान में कहा, “इन दो ग्रहों के बीच Alignment हर 20 साल में एक बार होता है, लेकिन ग्रहों के एक दूसरे के करीब आने के कारण यह संयोजन असाधारण रूप से दुर्लभ है।“ आपको 4 मार्च, 1226 को भोर से ठीक पहले वापस जाना है, ताकि रात के आकाश में दिखाई देने वाली इन वस्तुओं के बीच एक नजदीकी alignment देख सके।

कहा जा रहा है कि ऐसा संयोग 800 साल बाद हो रहा है। यह दुर्लभ घटना winter solstice की शुरुआत में सूर्यास्त के बाद होगी। खगोल शास्त्रियों के अनुसार, दिसंबर महीने में 16 दिसंबर से 25 दिसंबर के बीच आकाश में बृहस्पति और शनि बेहद निकट होंगे। एक खगोलीय घटना जिसमें खगोलीय पिंडों को align किया जाता है, conjunction कहलाता है। चूंकि इस conjunction में हमारे सौर मंडल में दो सबसे बड़े गैस जायंट्स शामिल हैं, इसलिए इसे “great conjunction” के रूप में जाना जाता है। यह हर दो दशक में एक बार होता है।

ये दोनों ग्रह पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी से चार गुना से अधिक दूर हैं। लेकिन हमारी नग्न आंखों के लिए, वे उज्ज्वल रोशनी के एक बिंदु की तरह दिखेंगे। यह आगामी दुर्लभ घटना, एक और 60 साल बाद 2080 में आएगी, और उसके बाद,15 मार्च, 2080 को, बृहस्पति और शनि इस वर्ष जैसे ही करीब दिखेंगे।