एजुकेशन कॉम्पिटीशन डेस्क नोटिस बोर्ड

कल होने वालें UPSC सिविल सेवा परीक्षा के जरुरी नियम और गाइडलाइंस

संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission, UPSC) कल यानी कि 4 अक्टूबर 2020 को सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 का आयोजन करेगा। सुप्रीम कोर्ट में यूपीएससी द्वारा दायर हलफनामे के मुताबिक यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2020 के लिए 10 लाख से ज्यादा युवाओं ने आवेदन किया है। यह परीक्षा देश भर के 2,569 केंद्रों पर होनी है। महामारी की के दौरान होने वाली इस परीक्षा के लिए यूपीएससी ने सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए हैं। इसके अलावा छात्र-छात्राओं के लिए भी कुछ दिशा-निर्देश जारी किए हैं। परीक्षा टाइमिंग की बात करें तो यह सुबह 9:30 से 11:30 और दोपहर 2:30 से शाम 4:30 तक दो पालियों में परीक्षा का आयोजन होगा।

UPSC परीक्षा के दिशानिर्देश

सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों के लिए मास्क या फेस कवर पहनना अनिवार्य है। आयोग ने कहा है कि परीक्षार्थी पारदर्शी बोतलों में सैनिटाइजर भी ला सकते हैं। बिना मास्क के किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा केन्द्र में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जायेगी।

परीक्षार्थियों को कोविड-19 के नियमों का पालन करना होगा। उन्हें परीक्षा हॉल/कमरों के साथ परिसरों में भी सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। हर केंद्र पर उसकी क्षमता से एक तिहाई परीक्षार्थियों को बैठाया जाएगा।

सुबह 9:30 से 11:30 और दोपहर 2:30 से शाम 4:30 तक दो पालियों में परीक्षा का आयोजन होगा। परीक्षा शुरू होने से 10 मिनट पहले तक ( सुबह की शिफ्ट में 09:20am और दोपहर की शिफ्ट में 02:20pm) ही परीक्षा केंद्र में एंट्री दी जाएगी। अपने साथ एडमिड कार्ड जरूर ले जाएं। इसके बिना प्रवेश नहीं दिया जाएगा। परीक्षा के प्रत्येक सत्र में उपस्थित होने के लिए, परीक्षार्थियों को अपने फोटो आईडी कार्ड, जिसका नंबर ई-एडमिट कार्ड पर दिया गया है, साथ लाना होगा।

परीक्षार्थियों को मोबाइल फोन या अन्य किसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को परीक्षा हॉल में ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। परीक्षार्थी OMR शीट व अटेंडेंस शीट भरने के लिए अपने साथ ब्लैक बॉल प्वॉइंट पैन जरूर ले जाएं।

जिन अभ्यर्थियों ने परीक्षा लिखने में मदद के लिए स्क्राइब का ऑप्शन चुना है, तो स्क्राइब के अलग एडमिट कार्ड के साथ ही उसे अनुमति मिलेगी। स्क्राइब के ई-एडमिट कार्ड अलग से जारी किए जाएंगे। सभी परीक्षा केंद्रों में जैमर लगाए जा चुके हैं। अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र के बाहर व अंदर सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रखनी होगी।