एजुकेशन नोटिस बोर्ड

JEE Main परीक्षा को लेकर शिक्षा मंत्री का बड़ा एलान,अब मिलेगी ये सुविधा

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ऐलान किया कि ज्वॉइंट एडमिशन बोर्ड (जेएबी) अगले वर्ष से जेईई मेन परीक्षा का आयोजन और क्षेत्रीय भाषाओं में करेगा। यह फैसला नई शिक्षा नीति ( New Education Policy 2020 ) की उस विशेषता को ध्यान में रखकर लिया गया है जिसमें स्कूली शिक्षा स्तर पर क्षेत्रीय भाषाओं को प्रोत्साहित करने की बात कही गई है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी, उन्होंने कहा कि ‘एनईपी 2020 के विजन के मद्देनजर जेएबी अगले वर्ष से जेईई मेन और भी कई अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में आयोजित करेगा। जो राज्य जेईई मेन के स्कोर के आधार पर अपने यहां के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन देते हैं, वहां की क्षेत्रीय भाषा को परीक्षा में शामिल किया जाएगा।’

निशंक ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बात की तरफ ध्यान दिलाया था कि PISA परीक्षा में सबसे अच्छा प्रदर्शन वाले देशों ने दिशानिर्देशों का माध्यम मातृभाषा रखा हुआ है। जेईई मेन को लेकर इस फैसले के दूरगामी प्रभाव होंगे। जेएबी का फैसला प्रश्नों को बेहतर ढंग से समझने और अच्छा स्कोर करने में स्टूडेंट्स की मदद करेगा। देश के इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिये संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई)-मेन्स का आयोजन वर्ष में दो बार होता है। इस परीक्षा का आयोजन एनटीए (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) द्वारा किया जाता है।