हमारे बारे में :

infinity media का एक उपक्रम The Full Volume है। इसकी धुरी बिहार के इर्द—गिर्द ही घूमेगी। क्योंकि, आज पत्रकारिता एक संक्रमण काल से गुजर रही है। एक तरफ कॉर्पोरेट घरानों का दबाव है, तो दूसरी ओर राजनीतिक घरानों का। मीडिया संस्थानों में यह घुट्टी पिलाई जाती है कि पत्रकारिता कंटेंट की मार्केटिंग है। ऐसे समय में क्या यह कल्पना की जा सकती है कि पत्रकारिता में जनहित सर्वोपरी हो। कोई ऐसा समाचार—पत्र, इलेक्ट्रॉनिक चैनल या मीडिया वेबसाइट है, जहां पत्रकारों की नियुक्ति और अन्य फैसले संस्थान तथा पत्रकारिता के हित को ध्यान में रखकर लिये जाते हों न कि विज्ञापनदाताओं और नेताओं के हित को ध्यान में रखकर। ऐसी स्थिति में जनहित उपेक्षित रह जाता है।
— यदि बिहार की चर्चा की जाये तो यहां और संकट की स्थिति है। आज बिहार का अपना कोई मीडिया संस्थान नहीं है। तमाम प्रिंट मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक चैनलों के लिए बिहार सिर्फ एक बाजार है। बिहार का हित सर्वोपरी इनके लिए नहीं है। जबकि, भारतीय इतिहास का सवर्णिम पृष्ठ बिहार का ही है। लगभग 1000 वर्षों तक बिहार भारतीय राजनीति का केंद्र बिंदु रहा। ऐसे में बिहार की उपेक्षा समझ से परे है।
— आज खबरें वहीं परोसी जाती हैं, जो मसालेदार हैं। इसलिए, द फूल वॉल्यूम ने निर्णय लिया है कि हम बिहार में उस शून्य को भरने का काम करेंगे, जहां बिहार का हित सर्वोपरी होगा। जहां मसालेदार खबरों की न्यूनता होगी। खबरें वही होंगी, जो आपको कुछ सोचने को विवश करे। जो आपका मार्गदर्शन करे, जो आपका मनोरंजन करे और जो प्रेरित करे कि आप भी बिहार के लिए कुछ करें।
— एक छोटा प्रयास हमलोगों ने प्रारंभ किया है। किसी को कोसने से बेहतर है कि एक नन्हा दीप जलाया जाये। कदम अवश्य छोटा है, लेकिन लक्ष्य हिमालय पर चढ़ने का है। पत्रकारिता की इस चुनौती में हमारे पास संसाधनों की कमी जरूर होगी, लेकिन बुलंद इरादों की नहीं। पाठकों से बस इतनी विनती है कि आप हमें पढ़ें, शेयर करें तथा हमें और भी बेहतर करने का सुझाव दें।

Your content goes here. Edit or remove this text inline or in the module Content settings. You can also style every aspect of this content in the module Design settings and even apply custom CSS to this text in the module Advanced settings.

WhatsApp chat