केंद्र सरकार के स्तर पर लॉकडाउन-4 की समयसीमा 17 से 31 मई तक करने के बाद राज्य सरकार ने भी इससे संबंधित अहम दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। राज्य गृह विभाग की तरफ से जारी आदेश के तहत राज्य सरकार ने जिला मुख्यालयों को छोड़कर सूबे के सभी प्रखंड मुख्यालयों को जोन घोषित कर दिया है। सरकार  ने यह फैसला ने यह फैसला रेड जोन के इलाके से बड़ी संख्या में लौट रहे प्रवासी मजदूरों के लिए प्रखंडों में बनाये क्वारंटाइन सेंटरों को देखते हुए लिया है। पटना जिला प्रशासन ने राज्य सरकार के आदेश के तहत सप्ताह में तीन दिन सोमवार,बुधवार,और शुक्रवार को 11 से 4 बजे ताख सभी उपभोक्ता वस्तुओं की दुकानें खोलने के आदेश जारी कर दिए है। इनमे शॉपिंग कॉम्पलेक्स, मॉल, और ठेला -रेहड़ी शामिल नहीं है। इन दुकानों में मुख्य रूप से कपड़ा, रेडिमेड, सैलून, ड्राई क्लीनिंग, फर्नीचर, बर्तन, साईकल, स्पोर्ट्स सहित अन्य दुकाने शामिल है। बिहार में अब कन्टेनमेंट जोन में सभी प्रकार की आर्थिक गतिविधियों पर रोक होगी। रेड जोन में लॉकडाउन -3 में मिल रही छूट ही मिलेगी।

बिहार के 19 जगहे कन्टेनमेंट जोन में 

बिचली गली, शिव मंदिर-खाजपुरा। चाणक्यपुरी, मछली गली -राजा बाजार। आलमगंज थाना -माखनपुर ईदगाह। अशोक टावर के सामने -राजा बाजार। बीपीएससी -स्लम बस्ती। रोड-01 न्यू पाटलिपुत्र कॉलोनी। गिरजा पथ -जक्कनपुर। रोड नंबर 04, फाइनेंस डिपार्टमेंट कॉलोनी। दुर्गा आश्रम गली। शिवनगर, रोड नंबर -03 . बीपीएससी -14 . चंद्र विहार कॉलोनी, आशियाना -दीघा रोड। मानसरोवर अपार्टमेंट, मीठा कुआं रोड। पश्चिमी जजेज कॉलोनी। बिरला कॉलोनी,फुलवारी गुमटी। शंभुकुदा गांव, नवटी पंचायत, नौबतपुर थाना। महराजगंज गांव के भागलपुर, चक चेचौल पंचायत, नौबतपुर थाना। जय हिन्द कॉलोनी रानीपुर,फुलवारी शरीफ। अंतराघाट, जमा ख़ारिज, दीघा पटना।