कोई भी समस्या अपने साथ एक अवसर भी लेकर आता है।  बस जरुरत है तो नजरिये और सकारात्मक सोच की जिससे हम उस अवसर को देख सके और उसका फायदा उठा सके। कोरोना वायरस के कारण आज देश में लोकडाउन के 50 दिन हो गए है।  इस बिच जहां हम घरो में रह रह कर विचलित हो चुके है वही हमें अपनी आत्मिक मंथन करने और अपने अंदर के छिपे गुण को जानने का भी मौका मिला है। हर कोई कुछ नया सिखकर या अपने अंदर के छिपे प्रतिभा को तराश कर  इस महत्वपूर्ण समय का सदुपयोग कर रहा है।

कोरोना से बचाओ के लिए युवा पीढ़ी अपनी नयी नयी रचनात्मकता से लोगो को जागरूक कर रहे है। पटना आर्ट्स एंड क्राफ्ट्स कॉलेज के छात्र अश्विनी आनंद कोरोना थीम पे अलग अलग पेंटिंग बनाकर लोगो को जागरूक करने के साथ साथ अपनी इस कला को भी तराश रहे है।

अश्विनी आनंद कला एवं शिल्प महाविद्यालय का छात्र है । इनका कहना है कि अभी कोरोना वायरस का संक्रमण पूरे विश्व में पांव पसार चुकी है। इस लोकडॉन के दौरान बहुत सारी करोना थीम पर पेंटिंग किया हूं और अपनी समाज के लोगों को पेंटिंग के जरिए जागरुक कर रहा हूं।

मेरी पेंटिंग का टाइटल है करोना मंथन , मैने  अपनी पेंटिंग में देवता और दानव के बीच संग्राम को दर्शाया है। अत्याचार को मिटाने के लिए  समुद्र मंथन हुआ था उस समय  वासुकि नाग  रस्सी के रूप मंथन में  सहायक हुए थे और अभी के समय में कोरोना मंथन हो रहा है। जिसमें कि करोना वारियर्स  करोना वायरस में संग्राम छिड़ गया है और डॉक्टर सफाई कर्मी और पुलिस फ़ोर्स मानवता को बचाने में अपनी अपनी जान की परवाह ना करते हुऐ इस संक्रमण से लड़ रहे हैं और मास्क  सहायक बन के सामने आ रहे है. अतः हमें इन कोरोना वारियर्स का सम्मान करना चाहिए और हम लोग को इस मुश्किल समय मे घर पे रहना चाहिए और लोकडॉन का पालन करना चाहिए

अश्विनी आनंद को आयल कलर , एक्रेलिक कलर, वाटरकलर, सॉफ्टपेस्टल पेंटिंग करना ज्यादा पसंद है।