जल—जीवन और हरियाली दिवस पर 3 मार्च, 2020 को कॉलेज आफॅ कॉमर्स आर्ट्स एण्ड साइंस, पटना में ‘सौर ऊर्जा की उपयोगिता- एक परिचर्चा’ का आयोजन किया गया। परिचर्चा की अध्यक्षता करते हुए प्रधानाचार्य प्रो तपन कुमार शांडिल्य ने सौर ऊर्जा के महत्व और उससे चलने वाले विभिन्न उपकरणों की उपयोगिता पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय में भी सौर ऊर्जा का प्रयोग कर बिजली पर होने वाले खर्च को कम करने में काफी मदद मिली है। परिचर्चा में छात्र-छात्राओं ने अपने विचार व्यक्त करते हुए जल संरक्षण, पौधारोपण और सौर ऊर्जा के महत्व की चर्चा की और छठ पर्व का उल्लेख किया, जिसमें पर्यावरण संरक्षण के लिए प्राकृति की पूजा की जाती है।

इस अवसर पर अन्य लोगों के अलावा प्रो. कीर्ति, प्रो. के बी पद्मदेव प्रो. बिन्दु सिंह, प्रो. मुनव्वर फ़ज़ल, प्रो. संतोष कुमार, प्रो. रश्मि आखौरी, प्रो. सलोनी कुमार, डॉ. सांत्वना रानी, प्रो. मनोज कुमार, अंकित नीरज, शाज़िया, विष्णु कांत, रोहित, सागर, लाडली और अमन समेत अन्य छात्र – छात्राओं ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

मंच का संचालन प्रो. मंगला रानी ने किया। इस मौके पर प्रधानाचार्य प्रो. तपन कुमार शांडिल्य ने शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मचारियों और छात्र-छात्राओं को पर्यावरण तथा ऊर्जा संरक्षण और पौधे लगाने की शपथ दिलाई।