आईआईटी दिल्ली ने कहा है कि पिछले साल जोसा के तहत सीट मिलने के बाद भी अगर बिना बताए सीट छोड़ दी गई है, तो 2020 में आईआईटी में एडमिशन नहीं मिलेगा। साथ ही इस तरह के परीक्षार्थियों को जेईई एडवांस के योग्य भी नहीं माना जाएगा। लेकिन, अगर किसी छात्र ने एनआईटी या अन्य गवर्नमेंट फंडेड संस्थानों में एडमिशन लिया है, तो जेईई एडवांस 2020 के लिए योग्य होंगे। इसके अलावा एडमिशन लेने के बाद बीच में छोड़ने वाले छात्र भी इस बार आईआईटी में एडमिशन के लिए योग्य नहीं हैं। सीट एक्सेप्ट कर ज्वाइन नहीं करने वाले छात्र भी इस बार आईआईटी में एडमिशन के लिए योग्य नहीं हैं। साथ ही आईआईटी दिल्ली ने कहा है कि जेईई एडवांस में स्टूडेंट्स को पेपर—1 व पेपर—2 दोनों में उपस्थित होना अनिवार्य है। इसके बाद ही रिजल्ट जारी होगा।