भारतीय स्टेट बैंक (SBI) अपने ग्राहकों को वर्चुअल कार्ड की सुविधा प्रदान करता है, जो एक लिमिट डेबिट कार्ड है। ऑनलाइन खरीदारी के लिए एसबीआई के इंटरनेट बैंकिंग के जरिये इस सुविधा का लाभ उठाया जा सकता है। मास्टर/वीजा कार्ड स्वीकार करने वाली किसी भी ई-कॉमर्स वेबसाइट पर इस कार्ड से खरीदारी की जा सकती है। 

SBI वर्चुअल कार्ड की ये हैं विशेषताएं 

  •  एसबीआई वर्चुअल कार्ड में मर्चैंट को कार्ड की प्राइमरी और अकाउंट डीटेल नहीं दिखता है। इस वजह से किसी भी तरह के फर्जीवाड़े की आशंका नहीं रहती है।
  •  एसबीआई वर्चुअल कार्ड ग्राहक के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आने वाले OTP के आधार पर बनता है। यही नहीं, ट्रांजैक्शन भी ओटीपी डालने के बाद ही पूरा होता है।  
  •  एसबीआई वर्चुअल कार्ड बनने के 48 घंटे तक या ट्रांजैक्शन पूरा होने तक ही यह कार्ड मान्य होता है।
  •  एसबीआई वर्चुअल कार्ड बनाने के लिए न्यूनतम ट्रांजैक्शन वैल्यू 100 रुपये और अधिकतम 50,000 रुपये है। इसके लिए ग्राहकों से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाता है।
  •  एसबीआई वर्चुअल कार्ड का इस्तेमाल उन सभी वेबसाइट्स पर किया जा सकता है, जो मास्टर/वीजा कार्ड से भुगतान स्वीकार करते हैं।  
  •  एसबीआई वर्चुएल कार्ड एक सिंगल यूज कार्ड है और एक बार सफलतापूर्वक इस्तेमाल के बाद यह बेकार हो जाता है।
  •  कोई ग्राहक रोजाना चाहे कितनी भी संख्या में वर्चुअल कार्ड बना सकता है। अधिकतम संख्या की कोई सीमा नहीं है।